Current View
ग्रामीण विकास का चित्रकूट मॉडल
ग्रामीण विकास का चित्रकूट मॉडल
$ 0+ shipping charges

Book Description

“चित्रकूट में दीनदयाल शोध सस्थान ग्राम्य विकास के एक अनूठे मॉडल को विकसित और क्रियान्वित कर रहा है। यह मॉडल देश के लिए सर्वथा उपयुक्त है। संस्थान को यह अहसास है कि राजनैतिक शक्ति की बजाय जनता की शक्ति ज्यादा क्षमतावान, दीर्घावधि तक कारगर और प्रोत्साहित करने वाली है। युवा पीढ़ी में आत्मनिर्भरता और उत्कृष्टता की भावना भरकर ही सामाजिक उत्थान और प्रगति संभव है दोस्तों आपको वहां के ग्रामों में कई नायक और उनके चेहरों पर मुस्कराहट देखने को मिलेगी। क्या यह स्थान सिनेमा के पटकथा, लेखकों, गीतकारों और निर्देशकों के लिए आकर्षक नही है। वहां जाने पर आपको कई नायक, कई नायिकायें, ढेर सारी खुशियां और मामूली सी त्रासदियां दिखेंगी”(नई दिल्ली विज्ञान भवन में 21 अक्टूबर, 2005 को 52वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ 0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम के भाषण से उद्घृत)