Current View
कुछ डायरी से
कुछ डायरी से
$ 0+ shipping charges

Book Description

हम हर दिन कई लोगों से मिलते हैं। वक़्त के साथ इनमें से कुछ हमारे ज़हन में बस जाते हैं और हमारे पास हमेशा के लिए रह जाते हैं, लेकिन इनमें से कुछ हमें हल्के से छू कर, अपनी एक निशानी, एक महक हम पर छोड़ जाते हैं। जो पास रहते हैं, वो तो खैर हमारे ख़यालों का एक बड़ा हिस्सा ले ही लेते हैं। पर वो जो हमसे दूर रहते हैं, वो भी हमारी यादों और कुछ पुराने बिताए पलों में काबिज़ रहते हैं। इस किताब के ज़रिये मैंने उन सभी यादों और जज़्बातों को आपके सामने रखने की कोशिश की है ताकि ऐसी ही कुछ बेघर यादों और पलों को आपके ज़हन, आपके दिल में एक नयी जगह मिले। यक़ीनन मेरे इन लफ़्ज़ों को हर कोई अलग अलग नज़रिये से देखेगा और समझेगा, पर ये भी सच है कि इन्हें पढ़ कर आपको आपके ज़हन की तह में छुपे उस शख्स की याद ज़रूर आएगी जो शायद आपके साथ आपकी ज़िन्दगी के सफर में तो नहीं है, पर आपकी यादों के एक हिस्से में ज़रूर शामिल है।