Current View
पलकों से गिरे सपने
पलकों से गिरे सपने
$ 0+ shipping charges

Book Description

एक लड़की की जूनून भरी कहानी समाज में फसकर, अपने बचपन को खोकर, खुद 14 वर्ष में माँ बन जाने की कहानी है। पढने लिखने की उम्र में अपना घर बनाने की जिद, पति को आगे बढाने की जिद, अपने बच्चो के साथ-साथ स्कूल में पढ़ने की जिद, टूट कर बिखर जाने के बाद भी जुड़ने की जिद, अपनी पहचान अपना नाम मिटे तारों में लिखने की जिद ,और एक - एक पैसे जमा कर बच्चों को तामिल देने की जिद।   क, ख, ग…को जोडकर किताबों की दुनिया में जाने का जुनून और जिद में जैसे उसकी पूरी उम्र ही गुजरती चलीं आ रही हो।