Current View
स्पेशल वार्ड
स्पेशल वार्ड
$ 0+ shipping charges

Book Description

स्पेशल वार्ड गम्भीर रोगियों के जीवन में आशा की एक किरण की तरह था। जिनके जीवित रहने की उम्मीद समाप्त प्राय हो चुकी थी, जो मृत्यु के इंतज़ार में   अस्पताल में भर्ती थे -उन्ही में से वनिता भी एक थी। उम्मीद और आत्मविश्वास से दुनिया में हर विपरीत परिस्थित  से लड़कर जीत हासिल की जा सकती है -इसे उसने संभव कर दिखाया। अपनी पीड़ा व दुख दर्द के बीच भी जीवन जीने की अदम्य इच्छा शक्ति व दायित्व बोध वनिता के मन में बना रहा। मृत्यु के मुंह से अपने साहस व विश्वास के भरोसे स्वस्थ होने वाली रोगी की मार्मिक कहानी है- स्पेशल वार्ड। इसी संग्रह की कथा- हे राम, सत्य के पक्ष में निर्भीकता से खड़े रह सकने वाले मिस्टर अ की कहानी है। सत्य के पक्ष में निर्भीकता पूर्वक खड़े होना महात्मा गांधी जी के सत्य के प्रयोग का मूल मंत्र भी था। मिस्टर अ की यह राह आसान न थी, उनके इस निर्णय ने उन्हे जीवन के बहुत से अनुभवों से परिचित करवाया,इसी की पड़ताल करती है यह कहानी। ये कहानियाँ जीवन के अनुभूति की उत्कृष्ट रूपक हैं।