Share this product with friends

Alice Ashcharyelok Mein / ऐलिस आश्चर्य लोक मेँ

Author Name: Original author: Lewis Carroll; Translation: Jagdish Kumar Mathur | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

विश्व प्रसिद्ध पुस्तक "ऐलिस इन वंडर लैंड" चार्ल्स लुडविग डौजसन ने अपने उपनाम लुइज़ कैरोल से लिखी थी। पर कहानी मूल रूप से बच्चों के लिए होते हुए भी छोटे – बडे सभी लोगों में अत्यधिक लोकप्रिय है। ऐलिस एक साहसी बालिका है जो अन्वेषी प्रकृति की है और चुनौती पूर्ण स्थितियों का सामान करने में तत्पर है। वह विचित्र से लगने वाले, कोट पहने सफेद खरगोश का उत्सुकतावश पीछा करते हुए उसके बिल में प्रवेश कर अचरज की दुनिया में पहुँच जाती है। वहाँ विचरण करते हुए उसका सामना नाना प्रकार के मानवों की भाँति व्यवहार करने वाले जीव – जन्तुओं और ताश के पत्तों से होती है। विभिन्न प्रकार की अद्भुत वस्तुएँ खा पीकर उसका कद और आकार घटता – बढ़ता रहता है।

कहानी में मनोरंजक वार्तालापों तथा सम्मोहक दृश्यों का वर्णन किया गया है।

मूल कहानी का सम्पूर्ण रूप में हिन्दी में अनुदित करना कठिन कार्य था, खासतौर पर कविताओं का जो कथानक से अन्तरंग रूप से जुड़ी हुई हैं। अंग्रेजी के द्विअर्थी शब्दों के कारण कई जगह भाषा का अनुकूलन करके अनुवाद करना पड़ा। 

हमें विश्वास है की पाठकों को यह कहानी पसंद आएगी जो हिन्दी में शायद पहली बार विस्तृत रूप में प्रस्तुत की जा रही है।

Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

मूल लेखक - लुइज़ कैरोल; अनुवादक - जगदीश कुमार माथुर

जगदीश कुमार माथुर भारतीय स्टेट बैंक के सेवानिवृत्त उप महाप्रबंधक हैं और अब एक स्वतंत्र लेखक और अनुवादक के रूप में काम कर रहे हैं।

वह लंबे समय से हिंदी और अंग्रेजी में लिख रहे हैं और उनके लेख बिजनेस स्टैंडर्ड, इंडियन एक्सप्रेस, फ़ाइनेंशियल एक्सप्रेस द हिन्दू आदि में प्रकाशित हो चुके हैं। 

उन्होंने हिन्दी और अंग्रेजी में सौ से अधिक छोटी कविताएं तथा कहानियां लिखी हैं।

वह हिंदी में अच्छे बाल साहित्य के निर्माण में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Read More...