Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Anubhootiyan / अनुभूतियाँ

Author Name: Dr. Anju Sihare | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

'अनुभूतियाँ' एक ऐसा काव्यसरोवर है कि जिसमें अनेक भावों की ललित उर्मियाँ इतस्तत: आलोड़ित होती रहती हैं; जिसमें अवगाहन करने पर पाठक स्नात होकर शांति का आभास पाता है। इस काव्यसंकलन में संकलित सभी कविताएँ आत्मानुभूति का विस्तृत आकार प्रस्तुत करती हैं। इन कविताओं में प्राकृतिक गरिमा, सामाजिक यथार्थ, संबंधों के विघटन से उपजता दु: ख, प्रेम का सौंदर्य, राष्ट्रीय संवेदना, स्त्री के विविध रूप, जीवन की व्यथा आदि भाव प्रकट होते हैं। समग्र रूप में "अनुभूतियाँ" जीवन के निकट महसूस होता काव्य संकलन है। सार रूपेण कहा जा सकता है कि 'अनुभूतियाँ' जीवन का चित्रण प्रस्तुत करती है।

Read More...
Paperback
Paperback 175

Inclusive of all taxes

Delivery by: 30th Sep - 4th Oct

Also Available On

डॉ. अंजू सिहारे

जीवाजी विश्वविद्यालय ग्वालियर से नेट और पीएचडी करने के बाद शासकीय छत्रसाल महाविद्यालय पिछोर (शिवपुरी) से अपने कैरियर का शुभारंभ करने वाली डॉ. अंजू वर्तमान में भी यहीं कार्यरत हैं। अंतर्राष्ट्रीय रिर्सच जर्नल “रिसर्च डिस्कोर्स” के एडीटोरियल बोर्ड में शामिल है। डॉ. अंजू सिहारे राष्ट्रवादी लेखक संघ के न्यासी हैं। वे अखिल भारतीय साहित्य परिषद से भी सम्बद्ध हैं। इनके यूजीसी से मान्यता प्राप्त जर्नल्स में कई शोध पत्र भी प्रकाशित हैं। डॉ. अंजू सिहारे एक ऐसी उदीयमान कवयित्री हैं जिनके काव्य में सामाजिक परिवेश, प्रकृति चित्रणऔर आधुनिक समस्याओं के वर्णन के साथ-साथ उनका समाधान भी प्रस्तुत किया गया है। इनकी भाषा अत्यधिक रिजु, स्वाभाविक, सुगम एंव प्रभावशालिनी है। इनकी पुस्तक 'अनुभूतियाँ' जीवन के अत्यधिक निकट प्रतीत होती है। डॉ. अंजू इन कविताओं के माध्यम से मन की परतों को खोलकर मानो ये कहना चाहती हों कि जीवन सरल नहीं है परंतु सदैव कठिन भी नहीं है वरन जीवन सतरंगी है और हमें हर रंग को जीना चाहिए।उन्होंने अपनी कविताओं में रिश्तों के महत्व को भी दर्शाया है साथ ही ये भी बताया है कि प्रकृति की समीपता कैसे हमारे मन और जीवन को आनंदित कर सकती है। सार रूपेण कहा जा सकता है कि 'अनुभूतियाँ' जीवन का चित्रण प्रस्तुत करती है।

Read More...