10 Years of Celebrating Indie Authors

Share this book with your friends

bolti khamoshi 2 / बोलती ख़ामोशी 2

Author Name: shubham sahu | Format: Paperback | Genre : Letters & Essays | Other Details
किताब में 300 से अधिक शायरियों का संग्रह है। यह किताब अलग अलग भागो में रुचिकर तरीके से विभक्त है। लेखक ने इसमें अपनी जिंदगी और लोगो के रूखेपन को देखकर इश्क़ मोहब्बत और तन्हाई जैसे मुद्दों पर बहुत ही सुंदर ढंग से शायरीयों में लिखा है। ये किताब बेवफ़ाई ,अपनो का रूखापन और लेखक के ख्वाबों की एक विचित्र किन्तु रुचिकर शायरी से भरपूर है। ये शायरियां बहुत ही सरल हिंदी उर्दू में लिखी गई है। इनकी शायरियों की रोचक बात यही है कि इनको पढ़ने वाले को अपनी जिंदगी के बहुत पहुलूं याद आ जाते है।
Read More...
Paperback
Paperback + Read Instantly 60

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Beta

Read InstantlyDon't wait for your order to ship. Buy the print book and start reading the online version instantly.

Also Available On

शुभम् साहू

About author:: किताब को लिखने वाले कोई लेखक नहीं है। लेखक को लिखने का बचपन का शौक था उन्होंने बचपन में कुछ कविताएं, कहानियां लिखी बाद में उन्हें शायरी का रूप दे दिया उन्होंने जेईई मेंस भी क्लियर की बाद में उनके घरेलू समस्या के चलते उन्होंने कॉलेज नहीं लिया और बी. ए. करने लगे । लेखक राजस्थान में झालावाड़ जिले के अकलेरा से है उनकी वहा एक दुकान भी है : मधु श्री कलेक्शन नाम से अगर आपको शायरी अच्छी लगे तो हमे नीचे दिए नंबर पर msg whatsapp or Gmail krke btaye. Mob.: 9785584767 Gmail: shubhamsahu4767@gmail.com Instagram: shayri_unke_liye
Read More...