Share this product with friends

Bull and the Red Saree / बुल एंड द रेड साड़ी

Author Name: Rahul Kumar | Format: Paperback | Genre : History & Politics | Other Details

“आज के युवा एवं समाज के बीच पुल का काम करती यह पुस्तक |” - इंडिया टुडे 

 

"यह किताब उस सोच पर बेझिझक सवाल खड़ा करता है जो की हमारे समाज में व्यप्त कुरीतियों के पीछे है |" - न्यू दिल्ली टाइम्स

 

“यह किताब एक नए चश्मे की तरह है जिसमे से साफ-साफ  समाजिक कुरीतियाँ और जीवन की अहम निज़ी चुनौतियों का समाधान दिखता है |” - दैनिक जागरण

 

“सामजिक न्याय और नारी सशक्तिकरण की बेहतरीन किताबो में से एक |" - प्रभात खबर

 

"80 पृष्ठों कि यह किताब भले ही ज्यादा समय न ले, पर इसका असर लम्बे समय तक ज़रूर रहेगा |" - आज-तक

Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

राहुल कुमार

 

●    सासाराम, बिहार में जन्म एवं स्कूली शिक्षा | डी.के.आई.टी. यूनिवर्सिटी , आयरलैंड से कंप्यूटर साइंस में स्कॉलरशिप द्वारा शिक्षा प्राप्त। 

 

●    वर्त्तमान में आईटी कंपनी के सह-संस्थापक के रूप में कार्यरत | सेना एवं विभिन्न क्षेत्रो में नई तकनीकी के विकास हेतू सॉफ्टवेयर डेवलपमेन्ट । 

 

●    भारतीय सेना के द्वारा मोबाइल एप्प " साथी " के लिए सराहा और सम्मानित किया गया । 

 

●    वर्ष 2017 में अपने गृहनगर में अस्पताल की स्थापना जिसमे कि गरीबो के लिए मुफ्त परामर्श । 

 

●    इलेक्शन स्ट्रैटेजिस्ट के रूप में प्रसिद्ध पार्टी एवं नेताओ के लिए सफल चुनाव मैनेजमेंट - बिहार विधानसभा - 2015 के चुनाव में।

 

●    कॉलेज में पढ़ाई के दौरान takestand नामक सोशल मीडिया प्लेटफार्म विकसित किया जिसपर कि 2 हफ्ते में 1.5 लाख लोग जुड़े । 

 

●    प्रधानमंत्री के आह्नान पर भारत वापस एवं विकसित राष्ट्र बनाने  के लिए सॉफ्टवेयर एवं विभिन्न क्षेत्रो में निवेश । भारत को एक बेहतर राष्ट्र बनाने  का सपना जंहा कोई ऊंच-नीच न हो - सामाजिक न्याय के लिए लड़ने का जुनून । 

 

 

 इस किताब से जो भी कमाई होगी उसका पूरा हिस्सा नारी शिक्षा और सामाजिक-न्याय में जाएगा । 

Read More...