Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Din Aaj Bhi Thoda Geela / दिन आज भी थोड़ा गीला Kaavya Sankalan / काव्य संकलन

Author Name: Ritu Jhajharia | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

“दिन आज भी थोड़ा गीला ” काव्य संकलन, लेखिका द्वारा अपनी विभिन्न भावनाओं की अभिव्यक्ति का एक माध्यम है। अपनी किशोरावस्था में कविताओं द्वारा अपने विचारों और अहसासों को उड़ेलने का जो ज़रिया मिला वो आज भी जारी है।  एक नव किशोरी के कच्चे मन की गहराइयों से लेकर  एक मजबूत युवती के उद्वेलित मन तक का पूरा सफर इन कविताओं में महसूस किया जा सकता है। 

ये कविताएँ किसी सुनहरी सुबह की साथी भी हो सकती हैं और किसी अलसायी शाम की हमसफ़र भी। एक तरफ “शायद…” में गहरी उदासी के पलों में भी उम्मीद का उजाला झलकता है तो दूसरी तरफ “दिन आज भी थोड़ा गीला “ में अपने उलझे हुए जज़्बातों की ईमानदार कश्मक़श। “तुम कौन हो?” में नए प्यार की गर्माहट का मिज़ाज तो “नज़रिया “ में ज़िन्दगी की गहराई की थाह लेने की एक कोशिश।  हर पलटते पन्ने के साथ उभरता है, ज़िन्दगी का एक नया रंग। आप भी इस काव्य संकलन में दुनिया को कवयित्री की नज़रों से देखने का एक नायाब अनुभव लीजिये, कभी चाय की चुस्कियों के साथ तो कभी सुहाने संगीत और मद्धम बारिश की जुगलबंदी के साथ।

Read More...
Paperback
Paperback 175

Inclusive of all taxes

Delivery

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

ऋतु झाझड़िया

ऋतु झाझड़िया ‘ ऋत् ‘, राजस्थान के एक छोटे से ज़िले झुंझुनू में बड़े से ख्वाब देखते हुए बड़ी हुई।  उनके माता-पिता ने अपने सभी बच्चों के लिए एक बेहद उम्दा पारिवारिक माहौल बनाया और सभी के हुनर को हमेशा प्रोत्साहित किया। उसी प्रोत्साहन की वजह से बचपन से ही ऋतु में पढ़ने और लिखने दोनों की गहन रूचि विकसित हो गयी। उनके माता-पिता ने शुरू से ही उन्हें प्रख्यात लेखकों की विविध पुस्तकें पढ़ने को दी जिसका काफी सकारात्मक प्रभाव न सिर्फ ऋतु की लेखनी पर अपितु उनकी ज़िन्दगी के हर पहलू पर पड़ा। 

लेखन के द्वारा कल्पनाओं के पंख लगाना, ऋतु को इतना चमत्कारी लगता है कि लिखना उनका एक अभिन्न अंग बन चुका है। एक सफल लेखिका बनने के अपने सपने को पूरा करने की ओर यह काव्य संकलन, “दिन आज भी थोड़ा गीला ”, उनका पहला कदम है।  

शिक्षा और पेशे से एक कंप्यूटर साइंस इंजीनियर, इंटरप्रेन्योर और मैनेजमेंट प्रोफेशनल ऋतु चाहती हैं कि वे हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं में एक सफल और प्रभावी लेखिका बनें और विविध विषयों पर लिखें। 

ऋतु ने अपने हमसफ़र के साथ एक छोटी से दुनिया मुंबई महानगरी में बना ली है और वहीं से वो ज़िन्दगी को अनुभव करते हुए, आगे आने वाले सालों में अपनी कहानियों के माध्यम से अपना अनोखा नज़रिया निरंतर प्रकाशित करने का सपना रखती हैं।

Read More...