#writeyourheartout

Share this product with friends

Geet Nahi Jhankar Ke / गीत नहीं झनकार के

Author Name: Tarun Tyagi | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

इस संकलन में मेरी विभिन्न रचनाएं शामिल हैं। कोशिश मैंने यह की है कि जो भी मेरे विचार हैं उन्हें आप तक सरल भाषा में पहुंचा सकूँ।

इससे पूर्व जो मेरी पुस्तक प्रकाशित हुई थी, यूँ तो वह बहुत कम लोगों तक ही पहुँच पाई है, किन्तु जिन भी पाठकों ने वह पढ़ी "हिन्द की पुकार" उनसे मुझे बड़ी ही प्रेरणादायक टिप्पणियां प्राप्त हुई हैं।

यह मेरी दूसरी पुस्तक है और मैं विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि मैंने इसमें अपना सर्वश्रेष्ठ डाला है। और मुझे अक्सर सुनने को मिलता है आपकी रचनाएं बड़ा गहरा अर्थ  रखती हैं जो कभी कभी हम समझ नहीं पाते, उन मित्रों से भी मैं कहना चाहता हूँ की इस पुस्तक को मैने इस प्रकार लिखा है की आपसे सीधे जुड़ सकूँ।

Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

तरुण त्यागी

लेखक का जन्म सन्न 1995 में उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर में एक मध्यम वर्ग किसान परिवार में हुआ , पिताजी का नाम सुधीर कुमार है जो कि एक किसान हैं , और माता का नाम श्रीमती अंजू त्यागी है जो एक ग्रहणी हैं , लेखक की प्राइमरी शिक्षा सहारनपुर में हुई है ! माध्यमिक शिक्षा राजस्थान के जयपुर एवं उच्च शिक्षा भी जयपुर में हुई है। लेखक को शुरू से ही हिंदी भाषा से लगाव रहा है और वर्तमान संदर्भ में लेखक ने हिन्दी में अपनी कविताएं प्रस्तुत की है। बचपन से ही लेखक  स्वतन्त्रता सेनानी, देशभक्तों और क्रांतिकारियों की ही कहानिया सुनते थे जिनका उनपर बहुत गहरा प्रभाव पड़ा , और देश सेवा को ही अपना धर्म बना लिया।
इससे पूर्व लेखक ने एक संकलन और प्रकशित किया था जिसको काफी सराहना मिली "हिन्द की पुकार" और उसी से प्रेरणा लेते हुए आगे बढ़ने का निश्चय किया।

Read More...