Share this product with friends

Iss Kriti Mein / इस कृति में

Author Name: Mohinder Singh | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

 प्रस्तुत काव्य संग्रह "इस कृति में"  हर प्रकार की परिस्थितयों को चुनौती -स्वरुप स्वीकार करने की हुंकार भरी गई हैl अच्छे संस्कार,बुद्धि,विवेक और शिक्षा जिसमें आध्यात्मिक शिक्षा भी शामिल है,इन सब की महत्ता और आवश्यकता पर उक्त  पुस्तक के माध्यम से प्रकाश डाला गया है।

उक्त पुस्तक में कटू अनुभवों और कल्पनाओं के आधार पर "समग्र विकास" की आवश्यकता पर बल देने के साथ –साथ वर्तमान तंत्र में शोषण,अन्याय,  दिखावा व फिजूलखर्ची के प्रति विरोध की आवाज़ को प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रुप में प्रखर तरीके  से उठाने का प्रयास किया गया है। संघर्षक्रियाशीलता,देश भक्ति और मानवता के मार्ग पर चलने की अपेक्षा भी प्रस्तुत काव्य संग्रह के माध्यम से की गई है।

Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

मोहिन्द्र सिंह

कठिन से कठिन परिस्थितयों में; पारिवारिक,सामाजिक,राजनीतिक व आर्थिक विषमताओं के बीच  अपने मनोभावों  को कविता के रुप में कह  देने में निपुण मोहिन्द्र सिंह 'नदेड़ा ' का जन्म 1977 में हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिला की बंजार घाटी के लाटीपरी गांब में  हुआरात्रि को मिट्टी के तेल के लटूए से  व दिन को सूर्य  के उजाले में पढ़ाई करने बाले   'नदेड़ा' ने  कुल्लू महाविद्यालय से स्नातक  व हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला से (आई. सी.डी . . .एल . के अंतर्गत) राजनितिशास्त्र में एम . . किया l इस दरमियान ही पंचायतीराज विभाग  में  सरकारी नौकरी प्राप्त हुईवर्तमान में भी हिमाचल प्रदेश के पंचायतीराज विभाग /आर .डी .डी .में  पंचायत सचिव के पद पर कार्यरत हैं

समाजिक क्षेत्र में कार्य करने के साथ साथ कविता  लेखन में भी इन की विशेष रूचि है 

पहाड़ बोलता है -इनका प्रथम प्रकाशित काव्य संग्रह है l

Read More...