Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

(P)2: Power of Present & Positivity / (पी)2: पॉवर ऑफ़ प्रेजेंट एंड पॉजिटिविटी

Author Name: Dr. Vineet Singh, Aditya Pratap Singh Rawat | Format: Paperback | Genre : Self-Help | Other Details

यह पुस्तक एक प्रयास मात्र है वर्तमान से स्वयं के परिचय का या यह कहें स्वयं से स्वयं के परिचय काI मूलतः हम सब, स्वयं को, अतीत और भविष्य के अर्थहीन चक्रों से ऐसा जकड़ लेते हैं कि कब हमारा अर्थपूर्ण वर्तमान, हमारा अतीत बन जाता है पता ही नहीं चलताI वह वर्तमान जो वास्तव में स्त्रोत है, असीमित संसाधनों  का, अनगिनत सुअवसरों का और आशातीत सफलताओं काI वर्तमान की इन्हीं गूढ़ विशेषताओं का संग्रह है यह पुस्तकI

आशा ही नहीं अपितु पूर्ण विश्वास है कि यह पुस्तक, अपने हर पाठक के जीवन में परिवर्तन का शुभ-आरम्भ जरूर करेगी और परिवर्तन का यही आरम्भ बनेगा आपके सफल जीवन का आरम्भ, क्योंकि आप परिचित हो चुके होंगे सफलता के मूल-मंत्र से, अपने बहुमूल्य वर्तमान सेI

Read More...
Paperback
Paperback 249

Inclusive of all taxes

Delivery

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

डॉ. विनीत सिंह, आदित्य प्रताप सिंह रावत

डॉ. विनीत सिंह:  प्रारम्भिक शिक्षा "लखनऊ पब्लिक स्कूल- एल.डी.ए" और "महाराजा अग्रसेन इंटर कॉलेज" से सम्पन्न हुई तत्पश्चात स्नातक एवं परा-स्नातक की पढ़ाई "लखनऊ विश्व-विघालय" से पूर्ण कीI आपके द्वारा विभिन्न पत्रिकाओं में ऐतिहासिक विषयों पर तथा समय-समय पर अनेकों सभाओं और कार्य-शालाओं में शोध-पत्र प्रस्तुत किये जा रहे हैंI यथोक्त के अतिरिक्त आप यू.पी. हिस्ट्री कॉग्रेस एवं इंडियन हिस्ट्री कॉग्रेस के सद्स्य तथा लखनऊ विश्व-विघालय में सभा-सद्स्य हैंI शहर के ऐतिहासिक साहित्य गगन मंडल में आपकी उपस्तिथि को सारतः निम्न पंक्तियों में व्यक्त किया जा सकता है- "शशिना च निशा निशिना च शशी, शशिना निशिया च विभति नभः"

आदित्य प्रताप सिंह रावत:  प्रारम्भिक शिक्षा "लखनऊ पब्लिक स्कूल- एल.डी.ए" और "लखनऊ क्रिश्चियन इंटर कॉलेज" से सम्पन्न हुईI वर्तमान में मर्चेट-नेवी में कार्यरत हैंI अपने कार्यक्षेत्र के चलते, विभिन्न समुदायों और विभिन्न देशों के जनों के साथ काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ और कहीं ना कहीं अपने कार्य-काल के दौरान अर्जित अनुभवों को इस पुस्तक में समाहित करने का प्रयास किया हैI "दिव्याँश फॉउंडेशन" के संस्थापक और संस्था के माध्यम से ही होनहार  छात्र और छात्राओं के स्कूल व कोचिंग शुल्क, बाल-ग्रहों  में सालाना राशन और समाज के ज़रूरतमंद वर्ग को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध करवाने में प्रयासरत हैंI

Read More...