Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Roohani Alfaaz / रूहानी अल्फाज़

Author Name: Syed Alhamd Ali | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

इस किताब में कुछ उमदा शायरी और नज़्में मौजूद हैं । इस किताब के माध्यम से लेखक अपने विचारों और भावनाओं को पाठकों तक पहुंचाना चाहते हैं ।इसमें कोई मतभेद नहीं कि ग़ज़ल उर्दू शायरी की सबसे लोकप्रिय,मनमोहक और दिलकश काव्य विधा है। ग़ज़ल जहां उर्दू शायरी की विरासत है वहीं शायरों की अंतराष्ट्रीय पहचान भी है।उर्दू अदब के शायरों से हिंदी जगत अंजान नही है।उर्दू ज़बान भारतीय उप महाद्वीप की मिली जुली संस्कृति और परंपरा की देन है।

"रूहानी अल्फ़ाज़”किताब सैय्यद अलहम्द अली के द्वारा लिखी गई है जिसमे उनकी कुछ उमदा शायरियां और नज़्में मौजूद हैं जो शायरी और उर्दू की समझ रखने वाले हर खास-ओ-आम को समझमे आएंगी।

यह किताब उर्दू के लफ्ज़ों और अलंकार से भरी हुई है और इसको हिंदी में लिखा गया है जो इसकी खूबसूरती को और भी ज़्यादा बढ़ाता है ।

Read More...
Paperback
Paperback 70

Inclusive of all taxes

We’re experiencing increased delivery times due to the restriction of movement of goods during the lockdown.

Also Available On

सैयद अलहम्द अली

इस किताब के लेखक सैय्यद अलहम्द अली हैं। उन्हें शायरी और कविताएं पढ़ने और लिखने का बहुत शौक है और वो इस किताब के माध्यम से अपने विचारों और भावनाओं को पाठकों तक पहुंचाना चाहते हैं।उन्हें उर्दू भाषा में काफी दिलचस्पी है ,वह भारत के उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं और वह एक विद्यार्थी हैं जो पढ़ाई के साथ साथ नज़्में भी लिखना पसंद करते हैं।उनकी लिखी गई यह पहली किताब है। लेखक का जन्म 2003 में हुआ है।

वह काफी शायरों और उर्दू जगत के नामी लोगों को पढ़ते हैं जैसे गालिब, मीर,इकबाल, फ़ैज़ अहमद फ़ैज़,और लेखक इन सब लोगों से प्रेरणा लेते हैंं।

इस किताब में कविता और शायरी ऐसे लिखी गई हैं कि सभी लोगों को वो समझ आएं और इनकी ज़्यादातर कविताएं और शायरीयां लोग अपने नज़रिए से पढ़ और समझ सकते हैं जिससे उन कविताओं के अनेक अर्थ निकल सकते हैं लेखक आपका अर्थ आप पर छोड़ते हैं ।

अलहम्द आधुनिक दुनिया में रहते हुए पुराने उर्दू शायरों और कवियों को सुनते हैं और उन्हें इसमें बहुत सुकून मिलता है। वह कुछ तीन सालों से शायरियां और नज़्में लिख रहे हैं लेकिन वह सब उनकी डायरी में ही मौजूद हैं।अब उनमें से कुछ उमदा और चुनिंदा शायरी और नज़्में वह इस किताब में प्रकाशित कर रहे हैं ताकि और लोग भी उनको पढ़ सकें।

Read More...