Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Uns ki zamin vasl ka asman / उन्स की ज़मीं वस्ल का आसमाँ

Author Name: Suraj Joshi | Format: Paperback | Genre : Young Adult Nonfiction | Other Details

यह किताब मेरे लिए सिर्फ शब्द नहीं हैं ये कविताएँ ये बताती हैं कि मैं अपने दिल में क्या महसूस करता हूँ। यह किताब दुनिया को ये बताने का जरिया है कि चाहे कोई भी परिस्थिति हो या  जिन्दगी में कैसी भी बाधा आये मेरी कलम नहीं रुकेगी ।ये सिर्फ मेरी ही नहीं आपकी भी जीवन यात्रा है। किशोरावस्था जीवन का वो समय होता है जब आप जीवन में आकर्षण, प्रेम और निराशा को अनुभव करते हैं। फिर आप निराशा के अंधेरे से निकल कर अपने जीवन के लक्ष्य को हासिल करते हैं। मेरी ये किताब पढ़कर आपको वही अनुभव होगा जो शायद आपने  भी अपने जीवन  में किया होगा। ये किताब आपको उन्हीं गुज़रे लम्हों की याद दिलायेगी जो हम सबने जिये हैं।अगर मैं ये कहूँ कि ये बस एक किताब है तो मैं गलत हूँ, ये मेरी जिंदगी का अब तक का सफर है और इसी वजह से मैं इस भीड़ से अलग दिखता हूँ।

जिंदगी की तीन अहम कुंजी - अनुभव, सीखना और सबसे अहम ये जानना कि कब पुरानी यादों से आगे बढ़ना है। एक व्यक्ति जो किसी के लिए हर दिन एक लंबा सफर तय करता है और जो रिश्ते निभाने का प्रयास करते-करते थक चुका है उसके लिए बेहतर है कि वो अपने जीवन में आगे बढ़ जाये तो मैंने भी वही किया है। मुझे विश्वास है कि इस किताब को पढ़ने के बाद आप भी उन्हीं लम्हों और भावनाओं को महसूस करेंगे जो कि मैंने ताउम्र महसूस की है।

 

 

 

Read More...
Paperback

Also Available On

Paperback 150

Inclusive of all taxes

Delivery by: 5th Nov - 9th Nov

Also Available On

Suraj Joshi

सूरज जोशी एक गुणी लेखक होने के साथ साथ एक बेहतरीन व्यक्ति भी हैं। वे जो भी लिखते हैं, दिल से लिखते हैं। इनका जन्म २५ सितम्बर  १९९६ को उत्तराखण्ड के काठगोदाम में श्री हरीश चन्द्र जोशी और श्रीमती मधु जोशी के घर में हुआ। उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा सेंट थेरेसा, काठगोदाम से पूरी की है। उन्होंने आई.एच.एम., लखनऊ से होटल मैनेजमेंट में स्नातक  की डिग्री अर्जित की है। उन्होंने अपने कैरियर की शुरुआत २०१७ में इंडिगो एयरलाइन्स में केटरिंग ऑफ़िसर के रूप में की। उन्हें हमेशा से ही लेखन का  शौक रहा है और जब उन्होंने लोगों के तकलीफ और बेरुखी को महसूस किया तब अपनी भावनाओं को शब्दों के सहारे कविता और शायरी के रूप में व्यक्त करना शुरू किया। विगत कई वर्षों से वे लिखते  आ रहे हैं। लेकिन उन्होंने कभी अपनी रचनाओं को एक किताब के रूप में  सामने लाने का विचार नहीं किया था।

कॉलेज जीवन से ले कर इंडिगो में केटरिंग ऑफ़िसर के  रूप में कार्य करने तक इनके मित्रों, परिवारजनों और सहकर्मियों ने हमेशा ही उन्हें लेखन के लिए प्रोत्साहित किया है। इसी कारण वे अपनी इस कला को विश्व के सामने प्रदर्शित करने में सक्षम हो पाए हैं।

लेखन के अलावा उन्हें मुख्यतः बास्केटबॉल खेलना पसंद है। भले ही यह  उनकी पहली पुस्तक है मगर वे इस कला को आगे भी लोगों के समक्ष नए-नए प्रारूप में लाने के लिए तत्पर हैं। इसके लिए वे अपने पाठकों से आशीर्वाद व प्रोत्साहन की कामना करते हैं।

 

सूरज से संपर्क करने का सबसे अच्छा माध्यम उनकी वेबसाइट है। वह अपने इंस्टाग्राम के पेज और ट्विटर पर भी उपलब्ध हैं।

 

Read More...