Current View
लाल बहादुर शास्त्री
लाल बहादुर शास्त्री
₹ 70+ shipping charges

Book Description

‘लालबहादुर शास्त्री की जीवनी’ का सारलालबहादुर शास्त्री सादा जीवन, उच्च विचार के हिमायती थे। विवेकानंद व महात्मा गांधी के विचारों का गहरा प्रभाव उनके जीवन पर पड़ा था। वे कथनी और करनी में अंतर नहीं करते थे।वे कांग्रेस के एक साधारण कार्यकर्ता से प्रधानमंत्री की कुर्सी तक अपनी कार्यक्षमता से पहुंचे थे।पंडित नेहरू के निधन के बाद उन्होंने देश की बागडोर तब संभाली, जब देश खाद्य-संकट से गुजर रहा था। तभी 1965 में पाकिस्तान ने भारत पर हमला कर दिया। उन्होंने इन दोनों संकटों से मुक्ति के लिए ‘जय जवान, जय किसान’ का जयघोष किया। फलस्वरूप देश को खाद्य-संकट से निजात मिलने लगा, वहीं भारत, पाकिस्तान से युद्ध जीत गया।11 जनवरी 1966 की रात उनका रहस्यमय ढंग से देहावसान तब हो गया, जब वे ताशकंद समझौता करने सोवियत संघ गए हुए थे। यह रहस्य, रहस्य ही रह गया!इन्हीं स्थितियों का विश्लेषण करता हुआ ‘छोटे कद के बड़े इंसान’ की ‘जीवनी’ पठनीय व संग्रहणीय है।     --00--         लेखक