हिंदी

Sangharsh
By Prithviraj Chauhan in Poetry | कुल पढ़ा गया: 120 | कुल पसंद किया गया: 1
"Zindagi ki iss kashmakash me, sangharsh humari jaari hai, Zindagi ki iss kashmakash me sangharsh humari jaari hai, Abhi to chote mote jang hue hai, isse bhi badi jang ki taiyari hai. Kashtiyon ka sahara leke dekh liya humne, Kashtiyon ka sahara leke dekh liya humne, Ki ae Prithvi ab toofano se teri  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 02:47 PM
तो अच्छा है ,ये lockdown
By Gyanesh Kunal in Poetry | कुल पढ़ा गया: 122 | कुल पसंद किया गया: 2
अगर आज पंछी की आवाज सुनाई दे रही है, जो बहुत दिनों स गुम थी । तो अच्छा है , ये lockdown अगर आज एक पिता अपने बच्चे के लिए समय नि  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 03:02 PM
Meh ke ga Har Woh lamha
By in Poetry | कुल पढ़ा गया: 106 | कुल पसंद किया गया: 0
Mehke ga Har Woh Lamha Jo banke Chirag Aur Ashiyana Thukraye Musafiron Ka  Sunle Ek bhi  Afsana    ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 04:04 PM
Khwabon main bune the...
By in Poetry | कुल पढ़ा गया: 100 | कुल पसंद किया गया: 0
Khwabon Main  Bune the  Kabhi  Humne bhi sapne Ahankar nri doobe Jaane kitne Toote  Pyare Sapne  Pighlega Har Us Chattan Mein Chupa Ahankaar ka Satya  Zameer Jag mag Karega tab Jab Ruksat ho jayenge Guroor saare Khwabon ki duniya Mein  Phir se  Hum  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 04:12 PM
Dil dimaag
By avni Mathur in Romance | कुल पढ़ा गया: 125 | कुल पसंद किया गया: 1
Ek samay tha jab tum Dil me rehte the aur ab aisa samay hai jab tum dimaag me rehte ho.....  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 06:36 PM
कहर कोरोना का
By keshav sharma in Poetry | कुल पढ़ा गया: 275 | कुल पसंद किया गया: 1
मची है घनघोर अफरातफरी  जैसे चला हो कोई शुल आगे बड़ने की होड़ में उसने  कर डाली यह कैसी भीषण भूल                ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 06:59 PM
हमारा प्रधानमंत्री
By Bhawna lal in Poetry | कुल पढ़ा गया: 183 | कुल पसंद किया गया: 7
हर देश नहीं इतना किस्मतवाला जिसे प्रधानमंत्री मिले मोदी जैसा हिम्मतवाला,  इतना सच्चा इतना प्यारा हम सब देशवासि  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 07:34 PM
Ab voh naah raha
By Aarushi in Poetry | कुल पढ़ा गया: 104 | कुल पसंद किया गया: 0
  Voh fingerprint bhi meri thi, Voh birthday bhi meri thi!  [Par ab voh mera naah raha]   Voh tags bhi mera tha, Voh comments bhi mera tha! [Par ab voh mera naah raha]   Voh hearts Bhi mera tha,  Voh naam bhi mera tha! [par ab voh mera naah raha]   Voh records bhi mera   ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 08:09 PM
MUSKAAN
By Ankitapandey_musaphir in Poetry | कुल पढ़ा गया: 133 | कुल पसंद किया गया: 1
Ek raat ruthi tujhse  kuch zazbaaton ka kehar jo thami thi... Tumne kaha mai tumse alag hu maine ye baat bhi maani thi! Sabr kia kuch deer aur toh ye muskaan ka karz badhta gya... Tujhse mulaqaat na ho payi  na dil mera bharta gya! Ek raah pe mili tumse uss safar ki mai karzdaar hu... Kuch  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 09:26 PM
Life ek game Hai
By Rahul Shirodkar in Poetry | कुल पढ़ा गया: 126 | कुल पसंद किया गया: 0
Yeah..Mic Check.. Raaahul On the Beat Fati padi hai meri.. dhire dhire seel rha hu... Life ek Game hai..  Mai Level 1 pe..  Level 10 monster se Ladh rha hu.. 1000 hai Problems  meri..  Dhire dhire ek-ek ko mai..Kopche me.. Pel Rha hu...  Ha mai khel rha hu..(2x) Ha..   ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 09:31 PM
My Story
By Rahul Shirodkar in Poetry | कुल पढ़ा गया: 101 | कुल पसंद किया गया: 1
Chehre pe hai hasi..chehre pe nakab bhi.. Sab sath hai..par sath koi nhi.. Dil me pyaar..aur uske liye nafrat bhi.. Sapne bade hai...lekin Hasil karneki takat nhi.. 1000 Kadmo ka hai Safar...mujse 1 kadam badhta nhi.. Mai  Ronaa chahta hu.. Kambhat Anoh se aansu nikalte nhi... Dushmani meri khu  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 09:46 PM
जनता को संदेश
By Bhawna lal in Poetry | कुल पढ़ा गया: 136 | कुल पसंद किया गया: 4
संकट में पडा है देश सबको देते है यही संदेश, घर से न निकलो अपने  कुछ तो सोचो वतन का अपने, कुछ दिन तो बस रहना है बन्द    ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 11:16 PM
उजाले जिंदा हैं
By sneh goswami in True Story | कुल पढ़ा गया: 145 | कुल पसंद किया गया: 0
   उजाले जिंदा हैं  धङक धङक , लोहे की सङक, धङक धङक लोहे की सङक , लय में गाती हुई रेल अपनी रफ्तार से भागी जा रही थी ।   ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Mar 31,2020 11:50 PM
GO CORONA GO
By Manasi Bhatt in Humour & Comedy | कुल पढ़ा गया: 212 | कुल पसंद किया गया: 1
तुम्हारे आने से सारा मोहल्ला देखता है  जेसे हर एक पल बेहकता है  पास से गुझरो तो पहले डियो की खुश्बू आती थी  अब से  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Apr 1,2020 11:12 AM
एक जरिया
By Patel Yash in Poetry | कुल पढ़ा गया: 129 | कुल पसंद किया गया: 1
एक जरिया चाहिए बात करने का, एक जरिया चाहिए प्यार इजहार करने का, एक जरिया चाहिए ये गलतियां मिटाने का, एक जरिया चाहिए य  ज्यादा पढ़ें...
इस तारीख़ को पब्लिश हुआ Apr 1,2020 12:46 PM