10 Years of Celebrating Indie Authors

Share this book with your friends

Hindi Computrikaran / हिंदी कम्प्यूटरीकरण

Author Name: Dr. Ahtisham Aziz | Format: Paperback | Genre : Computers | Other Details

हिंदी भाषा को वैश्विक भाषा बनाने की महत्ता समझते हुए नवीन शिक्षानीति के पाठ्यकर्म में भाषा के तकनीकी पक्ष पर विशेष बल दिया गया है। यह पुस्तक उसी प्रयास को एक कदम आगे ले जाने की कोशिश है।  भाषा के तकनीकी पक्ष के हर पहलू को छूने की कोशिश की गयी है जिससे के भारतीय युवा कंप्यूटर का  प्रयोग किसी विदेशी भाषा में न करके मातृभाषा में करें देश का भविष्य अन्य भाषाएं तो सीखे परन्तु अपनी भाषा को हींन समझे कंप्यूटर को उस भाषा में लाना है जिसके युवा अमेरिका में आई टी सेक्टर की रीढ़  की हड्डी कहलाते हैं, वो अपनी भाषा को भी विश्वपटल पर सर्वोत्तम तकनीकी भाषा बनाने में योगदान दे सकते हैं।

Read More...
Paperback
Paperback 325

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

डॉ. एहतिशाम अज़ीज़

भाषिक विकास के लिए आवश्यक है कि तकनीक को एक भाषा वैज्ञानिक की दृष्टि से देखते हुए उसमे छुपी संभावनाओं का अन्वेषण किया जाए और भाषा के ऐसे नवीन आयाम खोजे जाएं जो के उसे तकनीकी प्रयोग के लिए अधिक सुलभ, सरल एवं प्रयोगिक बनाए। डॉ. एहतिशाम अज़ीज़ के अंदर छुपे जिज्ञासु भाषा वैज्ञानिक को देखते हैं तो आपको सहज ही यक़ीन हो जाएगा कि अलीगढ जैसे शिक्षा के गढ़  में जन्मे इस बुद्धिजीवी में रूढ़िवादिता को तोड़ कर सोचने की क्षमता है अलीगढ कॉलेज ऑफ़ एजुकेशन में सहायक प्रवक्ता के पद  का दायित्व निभाते हुए भी इसमें  बिलकुल आश्चर्य नहीं कि उन्होंने भाषा के सामाजिक एवं साहितियक पक्ष को छोड़कर तकनीकी पक्ष पर लेखन कौशल दिखाया बहुप्रतिभावान लेखक एक प्रख्यात कवि  होने के साथ साथ  एक यूटयूबर एवं कई राष्ट्रीय एवं अंतर राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित हैं। सभी मंचों पर वह मातृभाषा की उन्नति के लिए प्रयासरत रहे।

ये पुस्तक एक तुच्छ प्रयास है हिंदी भाषा को उसकी वैश्विक पहचान दिलाने के साथ साथ हिंदी भाषियों को आधुनिक तकनीक से रूबरू कराने का, जो समय के साथ साथ जारी रहेगा।

Read More...

Achievements