Indie Author Championship #6

Share this product with friends

Maa ki mahima / माँ की महिमा

Author Name: Ayushi Tiwari | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

मां की महिमा संकलन का संपादन रायपुर, छत्तीसगढ़ स्थित सामाजसेवी संस्थान हरसंभव फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा की गई एक पहल का नतीजा है। हर साल पूरा देश मिल जुलकर नवरात्रि का त्यौहार हर्ष उल्लास के साथ मनाता आया है, किन्तु पिछले वर्ष मार्च २०२० में आई कोरोना नामक बीमारी के कारण सभी त्योहारों के रंग फींके से पड़ गए है। नवरात्रि के नौ दिन की चमक फिर लौट आए, सारा संसार फिर से एकजुट होकर सभी त्यौहार मना पाए, हरसंभव परिवार यही प्रार्थना करता है। 
इस संकलन में शामिल लेखकों ने जगदम्बे मां के प्रति अपनी आस्था, नवरात्रि की नवदेवी के नौ अवतार, तथा श्री राम के प्रति अपने विचारों को स्वरचित भजन, कविता, लेख आदि के रूप में व्यक्त करने का प्रयत्न किया है।
साथ ही मां भगवती एवं प्रभु श्री राम से प्रार्थना कर समस्त संसार को कोरोना मुक्त कर पुनः नव जीवन प्रदान करने की गुहार की है। मां की महिमा अपरंपार है, वो सदैव अपने बच्चों पर अपना प्रेम एवं आशीर्वाद बनाए रखें ऐसी हम आशा करते है।
इस संकलन के माध्यम से हम चैत्र नवरात्रि २०२१ को हमेशा के लिए यादगार बनाना चाहते है।
इस संकलन के संपादन में यदि हमसे कुछ त्रुटी हुई हो तो अम्बे मां हम भक्तों को क्षमा करें एवं हम पर सदैव अपनी दया दृष्टि बनाए रखें।

ये संकलन का संपादन मां के आशीर्वाद से ही पूर्ण हो पाया है, अतः हम मां को बारम्बार चरणस्पर्श प्रणाम करते है।

- संपादक मंडली
हरसंभव फाउंडेशन
रायपुर छत्तीसगढ़

Read More...
Paperback
Paperback 325

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

आयुषी तिवारी

रायपुर छत्तीसगढ़ में रहने वाली आयुषी तिवारी पेशे से अंग्रेजी विषय की एक महाविद्यालय में सहायक प्राध्यापिका है । साहित्य जगत में विशेष रुचि होने के कारण ये हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में कविताएं, कहानियां आदि लिखती है साथ ही इनकी ८ किताबें भी प्रकाशित है। शिक्षा तथा साहित्य क्षेत्र में इन्हें "साहित्य ब्रह्म सम्मान" , "अमृता प्रीतम कवयित्री सम्मान" , "शिक्षक सम्मान" जैसे अनेक सम्मान मिले हुए है। ये निस्वार्थ भाव से आजीवन साहित्य सेवा करना चाहती है।

Read More...