#National Writing Competition

Shivansh Tandon

सुख और दुख

By Shivansh Tandon in Poetry | Reads: 96 | Likes: 0

यह सुख कहा मिलता है तेरा कोई पता हो तो बताना किसी के चेहरे पे अगर दिखाता है तो उसका चरहरा मुझे दिखाना   बचपन में सुख  Read More...

Published on Jun 17,2020 07:25 PM

Unrequited love

By Shivansh Tandon in Poetry | Reads: 133 | Likes: 2

क्यों है कि तुम उससे सच्चा प्यार करते हों। क्यों है कि तुम उसका अब भी इंतजार करते हों। क्यों है कि तुम उसे पाकर भी खो  Read More...

Published on Jun 17,2020 04:23 AM

Edit Your Profile

Maximum file size: 5 MB.
Supported File format: .jpg, .jpeg, .png.
https://notionpress.com/author/