Indie Author Championship #6

Mathura Kalauny

Mathura Kalauny’s memories of a boyhood spent in the Kumaon Hills are so deep and strong that glimpses of those emotions creep up sometimes in his writings. He is adept at presenting the most serious subject in a light-hearted, humorous and satirical way. He captivates the reader by weaving varied human emotions in his amazing descriptive style.   He started his literary journey four decades ago. He founded the Kalayan Natya Sanstha in Bangalore in 1988 and started publishing the webzine Kalayan Patrika (www.kalayan.org) in 1999. He has more than 150 short stories published in various natioRead More...

दशा

Books by मथुरा कलौनी

नाटककार मथुरा कलौनी की कलम से जीवन की भिन्न दशाओं एवं परिस्थितियों में फँसे मनुष्यों पर चार सशक्त लघु नाटकों का कोलाज है दशा।

लंगड़ - श्रीलाल शुक्ल के कालजयी उपन्यास रागदरबा

Read More... Buy Now

कब होगी भेंट

Books by मथुरा कलौनी

सींग कटा कर नाटक मंडली के बछड़ों में शामिल हुए थे परमानंद काका, पर ऐन मौके पर बीमार पड़ गये और आवाज तक बैठ गयी। ऐसे में रुकुमा का प्रवेश होता है। रुकुमा का कहॉं तो एकदम व्‍यवस्थित

Read More... Buy Now

चंद्रभवन तृप्तिभवन

Books by मथुरा कलौनी

यह हास्य और रोमांच के दो लघु उपन्यासों का संकलन है। चंद्रभवन तृप्तिभवन दो मित्रों की आपस में गुत्थमगुत्था उलझी हुई प्रेम कहानियों की हास्य रस से भरपूर दास्तान है। केशव और दीपा

Read More... Buy Now

Ek Shaam Prem Chand Ke Naam

Books by

एक शाम प्रेमचंद के नाम, प्रेमचंद के जीवन की दिशा निर्धारित करने वाली घटनाओं और उनकी कुछ कालजयी कहानियों का नाट्यरूपांतरण है। इसमें कुछ नये प्रयोग किये गये हैं। कहानियों

Read More... Buy Now

Dhature Ke Beej

Books by

Dhature Ke Beej is a story of a young girl who dared to escape her circumstances, and became an eternal traveler. In one of her journeys, she meets a very unhappy woman for who leads a depressing life. They share their experiences with each other, which gives us a glimpse of the unfathomable depths of human degradation.

Basanti’s father-in-law, Shankar, is a crude, evil and wealthy man. He deals in Dhatura trade and mints money. He develops a false sen

Read More... Buy Now Read Sample

Kayapalat

Books by

जब ध्रुव का बिछड़ा दोस्त महेश उससे मिलने आता है तो उसे क्या मालूम था कि उसके साथ कुछ ऐसा घटेगा जिसकी कल्पना वह इस जन्म में तो क्या किसी जन्म में भी नहीं कर सकता था। वह अपने को एक ऐसे

Read More... Buy Now Read Sample

Edit Your Profile

Maximum file size: 5 MB.
Supported File format: .jpg, .jpeg, .png.
https://notionpress.com/author/