Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Akshar Manaka / अक्षर मनका Chun-Mun-Dhuno Ke Sath / चुन-मुन-धुनों के साथ

Author Name: Pradeep Kumar Agrawal | Format: Paperback | Genre : Others | Other Details

हिंदी वर्णमाला के अक्षरों पर क्रमवार भावगीत लिखने का बाल-शिक्षा में यह प्रथम प्रयास है। पाठ्यपुस्तक में ही प्रदत्त चित्रों पर चुन-मुन-धुनें तैयार कर बच्चों को खेल-खेल मे अक्षरों से परिचय कराने का रचयिता का मुख्य उद्देश्य है। नयी शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप गुणवत्तापरक शिक्षा की ओर यह एक सृजनात्मक प्रयास है। लेखक अपने इस प्रयास में कितना सफल हुआ है, ये आपके हाथों है या कल की भावी पीढी ही बता सकेगी। यह उन बच्चों के लिए विशेष महत्वपूर्ण है जिनके माता पिता निरक्षर हो तथा उन बच्चों को कोई अन्य सहायता या शंका-समाधान करने वाला भी घर पर सद्यःउपलब्ध न हो पाता हो। पुस्तक के अंत में दस तक की संख्याओं पर भी अंग्रेजी भाषा में राइमें एवं उसका हिंदी में लिप्यांतर भी उपलब्ध है जिससे ग्रामीण बच्चों को भी नगरीय या अन्य आंचलिक बच्चों के साथ अपनी योग्यता सिद्ध करने का समान अधिकार प्राप्त हो पाये हैं।

Read More...
Paperback
Paperback 260

Inclusive of all taxes

Delivery by: 27th Apr - 30th Apr

Also Available On

प्रदीप कुमार अग्रवाल

श्री प्रदीप कुमार अग्रवाल का जन्म 17 अक्टूबर 1953 में उत्तर प्रदेश में हुआ था। प्रयागराज विश्वविद्यालय से प्राचीन भारतीय इतिहास एवं संस्कृति में परास्नातक की उपाधि लेकर उ. प्र. सिविल सेवा में सन् 1977 में चयनित होकर उत्तरांचल एवं उत्तर प्रदेश के विभिन्न प्रशासनिक पदों पर तैनात रहे। आप सचिव, उ. प्र. शासन के पद से 2013 में सेवानिवृत्त हो लखनऊ नगर में बाल-साहित्य के क्षेत्र में अपना सक्रिय योगदान दे रहे हैं। आप “तमसो मा ज्योतिर्गमय” को हॄदयंगम कर हिंदी साहित्यसेवा के कार्य में जुटे हैं। आप द्वारा कई शैक्षिक बालनाट्यों का भी सृजन किया गया जो विद्यालयों में मंचित हो, सराहे गये हैं।

आप एक अंग्रेजी के सफल अनुवादक भी हैं। अब तक आप द्वारा योरोपियन संघ के सभी देशों, खाडी के देशों, आस्ट्रेलिया, सिंगापुर, वियतनाम, कम्बोडिया, स्वर्णभूमि आदि राष्ट्रों में योग एवं हिंदी के संवर्धन हेतु सद्भावना यात्राएं की गई जहां आपको कई अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार एवं सम्मान से विभूषित किया गया।

आप आयुष् मंत्रालय से मान्यता-प्राप्त उच्चस्तरीय योग प्रशिक्षक भी हैं। आपको उ. प्र. शासन द्वारा शिक्षा के अधिकार हेतु गठित उच्च स्तरीय मार्ग दर्शक समिति का सरकारी सदस्य भी नामित किया गया था।

Read More...