#National Writing Competition

Share this product with friends

Bas Yun Hi / बस यूँ ही

Author Name: Raj Kamal | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

कविताओं की एक प्रकृति होती है। इनको लिखा नहीं ढूँढ़ा जाता है। प्रकृति के हर कण में कविता है। ये कविताएँ झाँकती हैं और उद्गार को तत्पर रहती हैं। बस इन्हें ढूँढ़ने वाले चाहिए, जिनको हम बोलचाल की भाषा में 'कवि' कहते हैं। 

जीवन के निरंतर संघर्ष में मैंने भी कुछ कविताओं को ढूँढ़ने का प्रयास किया है। उम्मीद है, मेरे प्रयास को आप सबों का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

Read More...
Paperback
Paperback 117

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

राज कमल

राज कमल मूलतः बिहार के निवासी हैं और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के साथ लखनऊ में कार्यरत हैं। यह पुस्तक कविता के द्वारा पहली बार अपनी भावनाओं के उद्गार का उनका माध्यम है।

Read More...