10 Years of Celebrating Indie Authors

Share this book with your friends

DAHEJ KA DANSH / दहेज का दंश लघुकथा संकलन

Author Name: Dr Dinesh Pathak Shashi | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

हिन्दी गद्य साहित्य की वह लघुत्तम रचना जो पाठक को कुछ ही पल में प्रभावित करने में और उसे गहरे तक सोचने पर विवश करने में समर्थ है वह है लघुकथा। चूँकि लघुकथा में कथानक के विस्तार की गुंजाइश नहीं होती अतः कम से कम शब्दों में ही एक लघुकथाकार को अपनी पूर्ण बात कहनी होती है यानि गागर में सागर भरने जैसी प्रक्रिया।   घर-आँगन से, खेत-खलिहान और नौकरी तक आज जीवन का कोई भी ऐसा कोना नहीं जहाँ लघुकथा ने न झांका हो। सुख-दुःख, मान-अपमान, उन्नति-अवनति हर स्थिति का वर्णन लघुकथा कर रही है। आज अनेक लघुकथाकार हैं जो लघुकथा लेखन के क्षेत्र में बहुत अच्छी पकड़ रखते हैं और अपनी प्रभावशाली लघुकथाओं के माध्यम से जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाल रहे हैं।    इस संकलन में समाहित सभी लघुकथाएँ, दहेज सन्दर्भित लघुकथाएँ हैं जिन्हें लघुकथाकारों से विशेष आग्रह कर लिखाया गया है। इन लघुकथाओं में दहेज के विभिन्न रूपों का दिग्दर्शन पाठकों को होगा। सम्भव है इनके पढ़ने के बाद कुछ पाठकों को दहेज रूपी कोढ़ से विरक्ति हो और वे समाज में कुछ ठोस कदम उठाने की ओर अग्रसर हों। 

Read More...
Paperback
Paperback 220

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

सम्पादक डॉ.दिनेश पाठक शशि

नाम-डा.दिनेश पाठक ‘शशि’     जन्म- 10 जुलाई 1957 ई.      शिक्षा-विद्युत इंजीनियरिंग, एम.ए.(हिन्दी),    पी-एच.डी. प्रकाशन- कहानी, बालकहानी,बाल उपन्यास, व्यंग्य, लघुकथा, नाटक आदि की 31 पुस्तकें प्रकाशित एवं 17 पुस्तक और नौ पत्र-पत्रिकाओं का संपादन कार्य।     देश-विदेश की पत्र-पत्रिकाओं में सन् 1975 से कहानी,बाल कहानी, लघुकथा,समीक्षा,व्यंग्य एवं आलेखों का प्रकाशन एवं सन् 1980 से आकाशवाणी व दूरदर्शन से रचनाओं का प्रसारण।      चार कहानियाँ कक्षा-1,4 व 6 के हिन्दी पाठ्यक्रम में शामिल। एक बाल कहानी पर शार्ट फिल्म का निर्माण हुआ है।      आगरा वि.वि. से ‘कथा साहित्य शिल्पी डा.दिनेश पाठक‘शशि’ : व्यक्तित्व एवं कृतित्व’ विषय पर शोध कर डा.शिखा तोमर ने पी-एच.डी. की उपाधि प्राप्त की है         भारत सरकार के प्रेमचंद एवं लाल बहादुर शास्त्री पुरस्कार तथा उ.प्र.हिन्दी संस्थान लखनऊ के श्रीधर पाठक-नामित पुरस्कार एवं अमृत लाल नागर बाल कथा सम्मान सहित तीन दर्जन से अधिक संस्थाओं द्वारा पुरस्कृत/सम्मानित।

सचिव- पं.हरप्रसाद पाठक-स्मृति बाल साहित्य पुरस्कार समिति मथुरा

संरक्षक- तुलसी साहित्य एवं संस्कृति अकादमी, मथुरा

सम्प्रति- रेलवे में सीनियर सेक्शन इंजीनियर पद से सेवानिवृत्त 

गृह मंत्रालय के राजभाषा विभाग द्वारा राजभाषा सलाहकार समिति के लिए 5 वर्ष (2019 से 2023 तक) हेतु चयनित।

मोबाइल- 9870631805   ईमेल-drdinesh57@gmail.com 

Read More...