Share this book with your friends

GITA SAAR - EK NAYA PARIPREKSHY / गीता सार - एक नया परिप्रेक्ष्य

Author Name: Arun Kumar Kapur | Format: Hardcover | Genre : Religion & Spirituality | Other Details

गीता की मानक पुस्तकों में प्रत्येक संस्कृत श्लोक के शब्दार्थ के पश्चात् एक छोटा व्याख्यात्मक लेखन होता है। गीता के उपदेश को समझ पाना अक्सर चुनौतीपूर्ण रहा है। हर व्यक्ति घर पर गीता की एक प्रति रखना तो चाहता है लेकिन उसके सन्देश को पूर्णतया समझने में स्वयं को असमर्थ पाता है।

'गीता सार - एक नया परिप्रेक्ष्य' श्रीमद्भागवद गीता के कालातीत ज्ञान को एक नए दृष्टिकोण से प्रस्तुत करने का प्रयास है । गीता के अठारह अध्यायों में विस्तृत दिव्य सन्देश को तेरह अलग अलग शीर्षकों में एक नए प्रारूप में प्रस्तुत किया गया है। यह पुस्तक लेखक द्वारा किये गए कई वर्षों के शोध का परिणाम है।

इस सेवानिवृत्त वायु सेना अधिकारी ने गीता के गहन ज्ञान को सभी के लिए सहज बनाया है। आप इन पृष्ठों में भगवान्  श्रीकृष्ण के दिव्य मार्गदर्शन के पूरे सन्देश को सुरुचिपूर्ण संक्षिप्त रूप में पाएंगे।

Read More...
Hardcover
Hardcover 410

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

अरुण कुमार कपूर

ग्रुप कैप्टेन अरुण कुमार कपूर वी एस एम (सेवानिवृत्त), ने 8 जून 1978 को भारतीय वायु सेना में प्रशासन ब्रांच में कमीशन प्राप्त किया तथा लगभग 34 वर्ष की सेवा के पश्चात 30 अप्रैल 2012 को सेवानिवृत्त हुए। अपने सेवाकाल में 19 वर्षों तक उन्होंने लड़ाकू विमान नियंत्रक (फाइटर कंट्रोलर) के रूप में सक्रिय कार्य किया तथा सर्वोच्च श्रेणी 'ए' के लड़ाकू विमान नियंत्रक घोषित किये गए। इस दौरान उन्होंने भारतीय वायु सेना के प्रतिष्ठित "रणनीति एवं युद्ध कौशल विकास प्रतिष्ठान (TACDE)" में निर्देशन अधिकारी के पद पर भी कार्य किया। इसके पश्चात् उन्होंने एक यूनिट की कमान संभाली तथा वायु सेना के दो प्रमुख अड्डों पर मुख्य प्रशासनिक अधिकारी के पद पर अपनी सेवाएं दीं। तत्पश्चात उन्होंने वायुसेना मुख्यालय में डायरेक्टर पद पर भी कार्य किया। उनकी उत्कृष्ट सेवाओं को मान्यता देते हुए राष्ट्रपति द्वारा सन 2008 में उन्हें विशिष्ट सेवा मैडल से सम्मानित किया गया। 

Read More...

Achievements

+2 more
View All