#writeyourheartout

Share this product with friends

PRAKRITI KI GOD / प्रकृति की गोद

Author Name: Ramendra Singh Chauhan | Format: Paperback | Genre : Others | Other Details

कसोल हिल स्टेशन को प्रकृति का नायाब तोहफा कहें तो शायद कोई अतिश्योक्ति न होगी। जी हां, कसोल हिल स्टेशन के चौतरफा प्राकृतिक सौन्दर्य की निराली छटा दिखती है। भारत के हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू का यह शानदार हिल स्टेशन देश-विदेश के पर्यटकों का बेहद पसंदीदा है।पंचगनी हिल स्टेशन का प्राकृतिक सौन्दर्य किसी जादू से कम नहीं। जी हां, पंचगनी हिल स्टेशन के प्राकृतिक सौन्दर्य को अद्भुत भी कह सकते हैं। खास यह कि पंचगनी हिल स्टेशन पर चौतरफा प्राकृतिक सौन्दर्य की निराली छटा दर्शनीय है।बीर हिल स्टेशन को रोमांचक खेलों का स्वर्ग कहा जाना चाहिए। जी हां, बीर हिल स्टेशन रोमांचक खेलों मसलन पैराग्लाइडिंग, ट्रैकिंग एवं ध्यान के लिए खास तौर से ख्याति रखता है। भारत के हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा का यह एक छोटा शहर है।गावी हिल स्टेशन को धरती का स्वर्ग कहा जाना चाहिए।हमीरपुर हिल स्टेशन को धरती का ताज कहा जाना चाहिए। जी हां, हमीरपुर हिल स्टेशन प्राकृतिक सौन्दर्य अद्भुत है। भारत के हिमाचल प्रदेश के जिला हमीरपुर का यह शानदार हिल स्टेशन वैश्विक पर्यटकों के बीच खास लोकप्रिय है।लाहौल हिल स्टेशन के प्राकृतिक सौन्दर्य को अद्भुत एवं विलक्षण कहा जाना चाहिए। ऐसा प्रतीत होता है कि जैसे धरती पर स्वर्ग उतर आया हो। प्रकृति की गोद किशोर एवं युवाओं सहित सभी आयु वर्ग के पाठको के लिए रुचिकर एवं पठनीय होंगे। ऐसा मेरा विश्वास है। 'प्रकृति की गोद" भारतीय पर्यटन को समर्पित है।

Read More...
Paperback

Also Available On

Paperback 660

Inclusive of all taxes

Delivery by: 1st Oct - 5th Oct

Also Available On

रामेन्द्र सिंह चौहान

आत्म कथ्य/संक्षिप्त परिचय

रामेन्द्र सिंह चौहान... लेखक एवं पत्रकार...।
जन्म तिथि:- 15 जुलाई 1960... स्थान कानपुर।
शैक्षिक योग्यता:- एम. काम छत्रपति साहू जी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर, हिन्दी साहित्य सम्मेलन इलाहाबाद से पत्रकारिता एवं जनसंचार में विशारद...।
करीब तीन दशक से पत्रकारिता एवं लेखन क्षेत्र में सक्रिय...। अप्रैल 1992 से राष्ट्रीय सहारा हिन्दी दैनिक में बतौर पत्रकार सेवारत...। कला एवं संस्कृति, साहित्य, जल संसाधन, पर्यावरण-प्रदूषण, धर्म-कर्म, फिल्म समीक्षा, अद्भुत संसार, पर्यटन, वन्य जीवन सामाजिक बिन्दुओं सहित असंख्य विषयों पर निरन्तर लेखों का प्रकाशन जारी....। सम्प्रति में राष्ट्रीय सहारा हिन्दी दैनिक दिल्ली-एनसीआर में वरिष्ठ संवाददाता के पद पर कार्यरत....। इन तीन दशक की पत्रकारिता एवं लेखकीय यात्रा के दौरान राष्ट्रीय सहारा, हिन्दुस्तान, दैनिक जागरण, नई दुनिया, समाज कल्याण, स्वतंत्र भारत, नवभारत टाइम्स आदि इत्यादि समाचार पत्र एवं पत्रिकाओं में लेखों का प्रकाशन....।

Read More...