Indie Author Championship #6

Share this product with friends

Satya / सत्य ...Tuhara saath hi shashvath hai/ ...तुम्हारा साथ ही शाश्वत है।

Author Name: Satyendra Singh 'Apurna' | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

“आप एक कवि नहीं हैं, बल्कि आपने जो कुछ लिखा है वह अधिक बाहरी आकर्षण से प्रेरित है - अंतरात्मा से कम जुड़ा हुआ है। संक्षेप में आपको वर्णित करना हो तो....

Words fail me to express…

How influential and touchy a poet you are,

I still can say no one knows better than you

To play with words in feelings of the heart…

Perhaps you are disappointed over your dreams being crushed

But I feel your agony is what has purified and beautified

Your talent, like gold in furnace’s thresh,” शोभा ने कहा।

सत्य अचंभित था कि कोई उसकी कविताओं के द्वारा उसे इतनी अच्छी तरह से कैसे समझ सकता है। शोभा ने कहीं बहुत गहरे सत्य के हृदय को छू लिया था। सत्य ने अपने हृदय के कपाट बंद कर रखे थे सभी के लिए और इस कपाट की चाभी बहुत पहले ही नष्ट कर चुका था मगर शोभा ने बिना चाभी के ये द्वार आज खोल दिये थे। 

            यह एक प्रेम कथा है शोभा और सत्य की जो अलग-अलग शहरों, परिवेश और भिन्न-भिन्न जीवन के प्रति विचार रखने वालों की है। इतनी विभिन्नता के बावजूद दोनों में एक चीज समान थी कि दोनों अपने-अपने हृदय में अकेले थे और अपने-अपने हृदय के उस टुकड़े की तलाश में थे जो उन्हें पूरा कर सके। 

            आइये सत्य की इस प्यारी दुनिया में अपने कदम रखते हैं जो जीवन के सभी रंगों को समेटे हुये है और लेखक द्वारा रचे गये हर किरदार को समझते हैं जिन्हें जीवन के हर पहलू को छूने के लिए लेखक द्वारा अपनी कलम की स्याही से चित्रित किया गया है।

Read More...
Paperback
Paperback + Read Instantly 265

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Beta

Read InstantlyDon't wait for your order to ship. Buy the print book and start reading the online version instantly.

Also Available On

सत्येन्द्र सिंह 'अपूर्ण'

सत्येन्द्र सिंह ‘अपूर्ण’ पेशे से यांत्रिकी अभियंता हैं और उन्होंने वर्ष 2003 में गोविंद बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्री एंड टेक, पंतनगर से स्नातक किया है। उन्हें उन सभी चीजों में रूचि है जो किसी भी रूप में सुन्दर है, चाहे वह कला से संबंधित कार्य हो, प्राकृतिक सुन्दरता हो या किसी व्यक्तित्व की सुन्दरता हो। वे केवल नेत्रों द्वारा मापी गई सुन्दरता को ही महत्व नहीं देते हैं अपितु अन्य सभी रूपों में उपलब्ध सुन्दरता का मापदंड उनके लिए समान है। जहाँ उन्हें एक अच्छी कविता और एक अच्छा संगीत आकर्षित करता है वहीं समाज के जीवंत किरदार भी उन्हें उतना ही लुभाते हैं। वे उन सभी चीजों के पारखी हैं जो सामान्य से ऊपर उठकर व अलग है। वे अपने हृदय के अंतःकरण से दूसरों की भावनाओं को समझते हैं और लोगों को अपनी समस्याओं से जूझने का उपाय भी सुझाते हैं। उनका अंग्रेजी के एक उद्धरण ‘Love is reason for life’ में पूर्ण विश्वास और निष्ठा है। उन्होंने मात्र सोलह वर्ष की अल्प आयु में अपनी भावनाओं को कविता के रूप में व्यक्त करने का कार्य आरंभ कर दिया था। उनके द्वारा रचे गये किरदार जीवन के एक महान आयाम को चित्रित करते हैं।

Read More...