Hindi

Sunheri Yaadein
By priyanka shalini in Poetry | Reads: 87 | Likes: 0
Wo galiyan yaad ati hain jahan humara bachpan guzra karta tha Jo bhi simit kamayi thi Pitaji ki usmein hi unginnat khusiyan dhund lete the Haan koi kaami nahi rakhi maa-pitaji ne, soch kar baar baar dil gud-gud hojata hai, kaise itni kum tankhwa main sari khusi humein samet ke dete the Yaad ati hai   Read More...
Published on Apr 10,2020 06:21 PM
आईना
By Aditi Singh in Poetry | Reads: 104 | Likes: 0
ये आईना सच बोलता है  ये सब कबूलता है  ये तुझे उस शख्स से रूबरू कराता है जिसे तू रोज़ मिटाता खामियां जिसकी तू सबसे   Read More...
Published on Apr 10,2020 06:14 PM
प्यार की नाराज़गी
By Jyoti Choudhary in Poetry | Reads: 103 | Likes: 0
दूर जाकर भी तुम मुझसे दूर नहीं,  मैं तुम्हे ढुंढ लूँगी, चाहे तुम छुप लो कहीं।  जो कभी तुम हो जाओ मुझसे नाराज़ युँ ह  Read More...
Published on Apr 10,2020 06:47 PM
लॉक डाउन
By Jyoti Choudhary in Poetry | Reads: 95 | Likes: 0
मैं निकली जो अपने आंगन में,  देखा कुछ भी नही था पहले जैसा,  लगा कितने दिनों के बाद मैने दिन को देखा।  वो लाल आसमान  Read More...
Published on Apr 10,2020 06:53 PM
लिखता हूं
By Harshit Pant in Poetry | Reads: 323 | Likes: 0
मैं शामों की रंगीन, ख्वाहिश लिखता हूं,बहती पवन सी ठंडी, फरमाइश लिखता हूं,बैचेन हुए जो दिल, मुसीबतों से,मैं खत में छिप  Read More...
Published on Apr 10,2020 07:08 PM
Afsoos
By bushra azhar in General Literary | Reads: 94 | Likes: 0
Mohabbat se zyaada takleef deta hai intizaar. Sply jab apka sabr jwab de raha ho...Jab dil mein bht dard ho aur apko uss insaan ki zarurat ho jo ye sab dard ki dawa hai...Jo bs agar ek baar senne se laaga le...Toh dard ansu sab bina bole dil ka peecha chod de....Intezaar ka phal hamesha meetha nhi h  Read More...
Published on Apr 10,2020 07:59 PM
One Sided Love
By Vishal Sharma in Poetry | Reads: 89 | Likes: 0
Hey guys!!! Let me say this right here right now that if there is anything more pure than the love itself, is one sided love. Kisi ko paye Bina chahane ka maza hi kuchh aur hota hai, ye Jo ek tarfa pyar Karne Wale hote hain na ye bade hi khubsurat hote Hain apni taraf Se hundred percent laga dete Ha  Read More...
Published on Apr 10,2020 09:39 PM
थोड़ी मदद तुम भी कर दो ना
By siyaram meena in Poetry | Reads: 130 | Likes: 0
थोड़ी मदद तुम भी करवा दो ना घेर लिया है महामारी ने कैद कर लिया चारदीवारी में जो खुले है वह है पहरेदारी में अब तुमसे अप  Read More...
Published on Apr 10,2020 09:41 PM
नज़रिया
By Shreeya Katyal in Poetry | Reads: 423 | Likes: 9
कोई भर पेट खा रहा है, तो कोई खाली पेट जाग कर अपनी रातें बिता रहा है! कोई महलों का है शहज़ादा, तो किसी के पास घर भी नहीं सी  Read More...
Published on Apr 11,2020 02:11 AM
कुछ तो लोग कहेगे...
By Shreeya Katyal in Poetry | Reads: 352 | Likes: 7
आशीयाना समुद्र के तट पे बनाया,और लेहरों से तू घबराया?शहर के बीचों-बीच घर बनाया,और चहल-पहल, शोर-शराबा ना भाया?जंगल मैं   Read More...
Published on Apr 11,2020 02:23 AM
मां
By Anjali Shrivastava in Poetry | Reads: 126 | Likes: 2
                                              मां नींद बहुत आती हैं पढ़ते पढ़ते , मां यहां होती तो   Read More...
Published on Apr 11,2020 09:46 AM
जब मैं ना रहूंगा
By neha in Poetry | Reads: 78 | Likes: 0
सुनो, ये बेफ़िक्री कुछ दिन उधार दे सकते हो क्या?दोगे उधार तो आज इत्मीनान से सोऊंगा कई दिनों से इस उलझन में नींद नहीं   Read More...
Published on Apr 11,2020 10:29 AM
Lockdown
By maahir in Poetry | Reads: 83 | Likes: 0
ये आँखे थकती जाती है और ये राते कटती नही दिन निकलता है और आँखे खुलती नही अपने वतन कि मिट्टी से मोहब्बत है हमे&  Read More...
Published on Apr 11,2020 11:28 AM
दास्तान- ए - ज़िन्दगी
By mohit kumar in True Story | Reads: 119 | Likes: 1
ये दास्तान- ए - जिंदगी, थी मेरी बहुत ही आम, किसी से नहीं था मतलब, था बस काम काम काम। शहर- ए- आम में आई रौनक उसके आने से, खिल   Read More...
Published on Apr 11,2020 01:29 PM
अकेलापन
By Gaurav Gupta in Poetry | Reads: 129 | Likes: 0
कहते है अकेलापन काफी खाली होता है, जिसमे सिर्फ तू और तू होता है... अक्सर चारो तरफ़सन्नाटा और अंधेरा दिखता है, जिसमे तू   Read More...
Published on Apr 11,2020 02:06 PM