#National Writing Competition

kamlesh sapiens

writer and para-taxonomist
writer and para-taxonomist

हाँ या ना

Books by कमलेश सेपियन्स

एक ‘हाँ या ना’ कितना कुछ तय कर सकता है ये कहानी इसी पर आधारित है! हालांकि भविष्य में क्या होगा ये हम पहले पता नहीं कर सकते और हम अपनी वर्त्तमान की मौजूदा स्थिति के अनुसार ही निर्

Read More... Buy Now

'वैगटेल'

Books by कमलेश सेपियन्स

यह किताब जिसका शीर्षक 'वैगटेल' (wagtail) है, यह कमलेश सेपियन्स द्वारा लिखित स्वरचित रचनाओं का संग्रहण है जिसमे लगभग ३५ मुख्य रचनाए तथा अनेक लघु रचनायें व पंक्तिया है | किताब का शीर्षक ए

Read More... Buy Now

तू इश्क है

By kamlesh sapiens in Poetry | Reads: 75 | Likes: 1

तू इश्क है रंग गुलाल सा, तू इश्क है ठंडी छाँव सा, तू इश्क है दरिया में नाव सा, तू इश्क है…..   तू इश्क है वो ही, जहाँ शब्द भ  Read More...

Published on Feb 14,2021 04:20 PM

Edit Your Profile

Maximum file size: 5 MB.
Supported File format: .jpg, .jpeg, .png.
https://notionpress.com/author/