Hindi

गांव मे अपना वैलेनटाईन डे!
By in Humour & Comedy | Reads: 566 | Likes: 0
         *गांव मे अपना वैलेनटाईन डे!!*          *-By Arvind K Pandey*  ग्रामीण और शहरी नाम का विभाजन झूठा सा हो चला है। के  Read More...
Published on Mar 29,2020 04:11 AM
गंगा जमुनी तहज़ीब की बात करने वाले आस्तीन के सांप है
By in General Literary | Reads: 425 | Likes: 0
"गंगा जमुनी तहज़ीब की बात करने वाले आस्तीन के सांप है" *By Arvind K Pandey* इस देश मे एक जुमला बहुत प्रसिद्ध है "गंगा जमुनी तहज़ीब  Read More...
Published on Mar 29,2020 04:34 AM
भारतीय अंग्रेज़ी पत्रकार मूलतः राष्ट्र विरोधी है!
By in General Literary | Reads: 445 | Likes: 0
*भारतीय अंग्रेज़ी पत्रकार मूलतः राष्ट्र विरोधी है* *-By Arvind K Pandey* नई दिल्ली स्थित एक भूतपूर्व कद्दावर वरिष्ठ अंग्रेज़ी   Read More...
Published on Mar 29,2020 04:58 AM
असल प्रतिभा की उपेक्षा आधुनिक भारत मे एक रीति है
By in General Literary | Reads: 323 | Likes: 0
असल प्रतिभा की उपेक्षा आधुनिक भारत मे एक रीति है - *By Arvind K Pandey* वशिष्ठ नारायण जैसी महान विभूतियों को किसी सम्मान की आवश्  Read More...
Published on Mar 29,2020 05:10 AM
रिश्वतखोरी भारतीय समाज मे सांस लेने जैसा है
By in General Literary | Reads: 565 | Likes: 0
*रिश्वतखोरी भारतीय समाज मे सांस लेने जैसा है* *-By Arvind K Pandey* ब्योरोक्रेसी से संचालित व्यवस्था मे रिश्वत नाम की महामारी क  Read More...
Published on Mar 29,2020 05:17 AM
Choti Maa
By Vishakha in General Literary | Reads: 416 | Likes: 0
School ke wo din yaad hain? Jab ghanti bajte hi daud kar gate ke bahar us imli wale ke paas jaate the.  Aakhon mein wo maasomiyat aur jeebh imli khaane se pehle hi chatkaare leti hui, ki bas ye mil jaye toh har khwahish poori! Haath badhaya hi tha mene wo kaagaz pakadne ko aur uske upar laal im  Read More...
Published on Mar 29,2020 11:20 AM
पल
By dolly in Poetry | Reads: 1,332 | Likes: 1
सोचा नहीं था ऐसा भी पल आएगा जानवर बाहर और इन्सान घर के अंदर आएगा । कभी मांगते थे एक पल का आराम आज घंटों का आराम भी हरा  Read More...
Published on Mar 29,2020 01:03 PM
Baatein
By Pankhuri in Poetry | Reads: 251 | Likes: 0
Aaj kuch yu baat krna chahte hai hum unse.... Ki hum sb bol bhi de... Aur wo kuch sune bhi na......  Read More...
Published on Mar 29,2020 01:21 PM
एक नया अध्याय
By Abhishek Gupta in Poetry | Reads: 320 | Likes: 0
हां आज स्कूल ख़तम हो गया , एक नया अध्याय शुरू होने जा रहा है। ज़िन्दगी की अलमारी में। एक और तख्त लगा दी मैंने। ज़िन्द  Read More...
Published on Mar 29,2020 02:05 PM
"हम चांद से वापस आए हैं"
By Arvind Kumar in True Story | Reads: 417 | Likes: 0
"हम चांद से वापस आये हैं"         25 मार्च 2020 से देश लाँक डाउन है। सरकारी आदेश के आलोक में मैं भी अपने परिवार एवं बच्च  Read More...
Published on Mar 29,2020 02:57 PM
Corona- Happened for good?
By Ikjot Parmar in Poetry | Reads: 229 | Likes: 6
खुद को पहचान लेने का एक मौका मिला है... खुद से भी बात कर, इस से बेहतर दोस्त कभी ना मिला है... कर लेना अपनो से भी बातें, कल क  Read More...
Published on Mar 29,2020 05:23 PM
Us khuda ko kya manjur tha
By arjuman shaikh in Poetry | Reads: 187 | Likes: 0
Pata nahi us khuda ko Kay manjur tha k pata nahi us khuda ko Kay manjur tha hum dono ka dil ma na tha bas vo ek mulakat asi Hui ka hum dono ka Dil na  ha kardiya pata nahi us khuda ko Kay manjur tha  Read More...
Published on Mar 29,2020 06:19 PM
जिंदगी
By Mansi Gupta in Poetry | Reads: 563 | Likes: 0
तू क्यों दुनिया को देखता है, क्यों सवाल पूछता नहीं खुद से, क्यों जवाब ढूंढता नहीं खुद में,  जब रोशनी आने को बैताब है   Read More...
Published on Mar 29,2020 06:35 PM
Us khuda ko kya manjur tha
By arjuman shaikh in Poetry | Reads: 256 | Likes: 1
Pata nahi us khuda ko Kay manjur tha k pata nahi us khuda ko Kay manjur tha hum dono ka dil ma na tha bas vo ek mulakat asi Hui ka hum dono ka Dil na  ha kardiya pata nahi us khuda ko Kay manjur tha  Read More...
Published on Mar 29,2020 06:35 PM
औरत
By M Tasleem in Poetry | Reads: 211 | Likes: 0
औरत ऊपरवाले की सबसे बेहतरीन शाह कार है खूबसूरत लफ्जों, रंगों की भरमार है बेपनाह मुहब्बत, खिदमत उसकी फितरत है औरत मु  Read More...
Published on Mar 29,2020 07:54 PM