10 Years of Celebrating Indie Authors

Share this book with your friends

Aadmi / आदमी आदमी का, आदमी के द्वारा, आदमी के लिए / Aadmi ka, Aadmi ke dwara, Aadmi ke liye

Author Name: Deo Kumar Gupta | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

“देखकर चिलचिलाती धूप, कोई हार कर बैठ जाता है,
पर वह भी कोई मर्द है, जो उसी धूप में चलकर मंजिल पाता है।“

 उपर की पंक्तियां इसी पुस्तक से ली गई हैं। और यह पुस्तक इन्ही पंक्तियों के प्रेरणा का परिणाम है। बहुत दिनों से अलग-अलग डायरियों, कापियों के पन्नों पर विभिन्न अवसरों पर घटित होने वाली सम-सामयिकी से प्रेरित होकर छोटी-छोटी कविताए लिखी गई थी। इच्छा थी इन सभी कविताओं को संकलित कर एक पुस्तक का रुप दिया जाए।

‘इक्यावन’ कविताओं के संग्रह का पुस्तक प्रारुप तैयार कर कम्प्युटर-प्रिंटिंग हेतु भेजने के बाद पुस्तक सज-धज कर आपके हाथों में प्रस्तुत है, इस आशा के साथ कि अपनी जिंदगी में ऐसा कुछ अच्छा कर गुजरें कि लोग आप के बारे में अनायास कह उठें –

“औरों के लिए वे पथ प्रदर्शक बन जाते हैं,    
बनाकर एक और ‘किर्तीमान, ‘मील के पत्थर’गिने जाते हैं।“
-इसी पुस्तक से

Read More...
Paperback
Paperback 249

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

देव कुमार गुप्ता

देव कुमार गुप्ता, जिनकी आयु साठ वर्ष है, एक सफलतापूर्वक सेवानिवृत्त राज्य सरकार के कर्मचारी हैं, जिन्होंने हमेशा पूरी प्रतिबद्धता और समर्पण के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया है। उनके जॉब प्रोफाइल के लिए उन्हें दैनिक आधार पर जीवन के लगभग हर स्तर के लोगों से मिलना पड़ता था जो उनके वर्तमान कार्य के लिए प्रेरणा और निर्माण का स्रोत बन गया। उनके गहन अवलोकन और जीवन को अलग तरह से देखने की क्षमता ने उन्हें एक ऐसे कवि के रूप में बदलने में मदद की जो हमेशा अपने आस-पास होने वाली घटनाओं को समझने और खूबसूरती से लिखने की कोशिश करते हैं। उन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से दुनिया को एक सकारात्मक संदेश देने की कोशिश की है। सकारात्मक प्रतिक्रियाएँ उन्हें अपनी अन्य रचनाओं के सतह पर आने के लिए तत्पर रहने के लिए प्रोत्साहित करेंगी।

वर्तमान कार्य के लिए फीडबैक और सुझावों का हमेशा dkgdic@gmail.com पर स्वागत है

Read More...

Achievements