Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Lata ke 51 Geeton ki Sargam / लता के 51 गीतों की सरगम

Author Name: Vinod Kumar | Format: Paperback | Genre : Music & Entertainment | Other Details

लता मंगेशकर के गीतों का कौन दीवाना नहीं है? हर व्यक्ति हर दिन लता जी के गीतों को ढूंढ ढूंढ कर सुनता है. उनके गीतों में जो मधुरता, सादगी, मिठास, शोखी, तरुणाई और स्वर गूढ़ता (स्वरों की गहराई और ऊँचाई) पायी जाती है वो अतुलनीय है. ‘लता के 51 गीतों की सरगम’ पुस्तक के पिछले संस्करण की अपार सफलता के बाद ये नया संस्करण प्रस्तुत है. जो अभी तक इस पुस्तक को नहीं खरीद पाए हैं वे अवश्य इसे खरीदकर आनंद पायेंगे. इसमें लय ताल के साथ स्वरलिपि प्रस्तुत की गयी है. गीत के साथ बजाई जाने वाली एक कोर्ड का उल्लेख भी किया गया है. संगीत की प्रारंभिक जानकारी रखने वाला व्यक्ति आसानी से इन गीतों को अपने वाद्य पर बजा सकता है और उनका आनंद ले सकता है.

Read More...
Paperback
Paperback 550

Inclusive of all taxes

Delivery by: 3rd Oct - 6th Oct

Also Available On

विनोद कुमार

विनोद कुमार, एम.काम, ग्रेड.सी.डब्लू.ए. होने के साथ ही प्रयाग संगीत समिति, इलाहबाद से तबला और सिंथेसाइज़र में प्रभाकर हैं. इन्होंने मशहूर गायकों के ’51 गीतों की सरगम’ श्रंखला की अनेक पुस्तकें लिखी हैं जो कि पाठकों द्वारा अत्यंत पसंद की गयी हैं. ये पुस्तकें ऑनलाइन स्टोर्स से खरीद सकते हैं. 

Read More...