Share this product with friends

UDAAN / उड़ान NA

Author Name: Ritu Singh | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

यह कहानी एक लड़की की है जो आज भी इस आधुनिक समाज में उसी तरह हर समस्या का सामना करती है जैसे पहले की औरतें करती थी कहने के लिए आज हम कहते हैं कि हम बहुत आधुनिक हैं परंतु हमारी सोच अब भी पुरानी रूढ़ीवादी रीति-रिवाजों में जकड़ी हुई है। आज भी यह समाज पुरुषवादी है पुरुष कितनी शादी कर ले कितने ही असामाजिक रिश्ते बना ले परंतु औरत को यह अधिकार नहीं है यदि वह अपने पति को छोड़ दे तो दूसरे मर्द चील कौवा की तरह उस पर झपट पढ़ते हैं। औरत को हमेशा सहारे की जरूरत होती है पहले पति और फिर बच्चे। हम बड़ी बड़ी बातें करते हैं लड़कियों को यह करना चाहिए लड़कियों को वह करना चाहिए लेकिन सिर्फ अपनी बेटियों के लिए जब बात अपनी पत्नी की आती है तो सब बातें भूल जाते हैं और उसे इतना मजबूर कर देते हैं कि वह कितनी ही काबिल हो परंतु सब छोड़-छाड़ कर सिर्फ एक घरेलू औरत बन जाती हैबिना किसी को बताए चोरी छुपे अपनी मर्जी की जिंदगी जी ले तो जी ले अन्यथा पता चलने पर उसे बेइज्जत करके घर से निकाल दिया जाता है और समाज भी उसे अपनाता नहीं है। क्या यह सही है?

Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

रितु सिंह

यह उपन्यास औरतों की भावनाओं को दबाने के ऊपर लिखा गया है

लेखक का नाम रितु है नई दिल्ली में रहती है उसे लिखने का शौक है उसने यह उपन्यास आज की नारी को जगाने के लिए लिखा है। वह नारी जो शादी के बाद सिर्फ घर के कामकाज को करती है अपना अस्तित्व ही खो देती है अपने पति और बच्चों के लिए लेकिन हिम्मत रखे तो वह अपना अस्तित्व दुबारा पा सकती है

Read More...