Indie Author Championship #6

Durga Singh Udawat

Durga Singh Udawat was born on 26th June, 1969 in Janasani, Rajasthan. He became a teacher and works in the social field to give a new direction to society and to give positive thoughts to the youth.  Read More...

नेह का बंधन

Books by रमता शर्मा

“नेह’’ या “प्रेम’’ का अपना एक अमिट व अटूट बंधन होता है । जो कि, बिना किसी धागे के, रिश्ते के, समझोते के, व्यवहार के, स्पर्श के, नजदीकी के, भी अनुभूत किया जा सकता है । 

                         

Read More... Buy Now

तुम मेरे हो

Books by रमता शर्मा

तुम मेरे हो, प्रीत की भावनाओं का ऐसा संग्रह है, जिसमें कवियत्री ने प्रेम की शाश्वतता व स्थायित्त्व के आधार पर प्रिया व प्रिय को एक-दुसरे का पूरक बताया है, व समय-समय पर जीवन की तमस भर

Read More... Buy Now

संस्कृति की ओर

Books by रमता शर्मा

पुरूष पौरूषत्त्व खो रहा है, स्त्री का स्त्रीत्त्व माँ का ममत्त्व चट हो गया पिता का पितृत्त्व क्षीण हो चला राम लक्षण से भ्रातृत्त्व को मानने वाली संस्कृति भ्रात्तृहन्ता हो गई । <

Read More... Buy Now

कोख़ का क्रन्दन

Books by दुर्गासिंह उदावत

मत मारों कोख में समाज के सभी वर्गो में एक ताड़ना स्वरूप है, लेखक का मन चीत्कार कर रहा है । उस नन्हीं जान हेतु जो अधखिली होने पर भी श्वासों  के पूर्ण वयस्क होने से पहले ही नोच खसोंट कर

Read More... Buy Now

देती मातम ! मधुशाला

Books by रमता शर्मा

इस संग्रह में कवियत्री ने शराब की गंदी लत के चलते, पारिवारिक पीड़ा व समाज में व्याप्त हो जाने वाली, ’बुराईयों’ का वर्णन किया हैं ।

                              तथा इसे बारम्बार त्याज्य बता

Read More... Buy Now

उठो जागो

Books by दुर्गा सिंह उदावत

आज हर तरफ एक होड़ सी मची हैं, जीवन में अग्रिम पंक्ति में स्थापित रहने हेतु, ’किन्तु’ यही आपाधापी होड़ा-होडी व्यक्ति के जीवन में कभी-कभी गहन निराशा बनके भी घर कर जाती हैं ।

               

Read More... Buy Now

Edit Your Profile

Maximum file size: 5 MB.
Supported File format: .jpg, .jpeg, .png.
https://notionpress.com/author/