Share this product with friends

A POOR MAN WITH MERCEDES BENZ / मर्सिडीज बेंज वाला एक गरीब आदमी हास्य व्ययांगतमक लघु कथाएँ

Author Name: AJAY AMITABH SUMAN | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details
साहित्य बहुत हीं सशक्त माध्यम है , ह्रदय की आवाज को बाहर लाने का. एक व्यक्ति अपनी बात को हमेशा बाहर नहीं ला पाता . बहुत सारे कारण होते हैं . जीवन में बहुत  सारी घटनाएँ ऐसी घटती है जो मेरे ह्रदय के आंदोलित करती है. फिर चाहे ये प्रेम हो , क्रोध हो , क्लेश हो , ईर्ष्या हो, आनन्द हो , दुःख हो . सुख हो, विश्वास हो , भय हो, शंका हो , प्रसंशा हो इत्यादि, ये सारी घटनाएं यदा कदा मुझे आंतरिक रूप से उद्वेलित करती है. मै बहिर्मुखी स्वाभाव का हूँ और ज्यादातर मौकों पर अपने भावों का संप्रेषण कर हीं देता हूँ. फिर भी  बहुत सारे मुद्दे या मौके ऐसे होते है जहाँ का भावो का संप्रेषण नहीं होता या यूँ कहें कि हो नहीं पाता. बहुत जगहों पे अन्याय होता है , भ्रष्टाचार होता है , जिसका विरोध नहीं कर पाता . पारिवारिवारिक, आर्थिक , सामाजिक मजबूरियाँ होती हैं जो एक व्यक्ति को बोलने से रोकती हैं . इन परिस्थियों में व्यक्ति क्या करे ? क्या अपनी आवाज को ताउम्र ह्रदय दबा कर रखे , या किसी अन्य तरीके की खोज बीन करे . इन्हीं परिस्थियों और अंतर्द्वंदों का नतीजा शायद साहित्य है . साहित्य कार किसी से लड़ता नहीं है और अपनी बात कह भी देता है , बिना किसी को चोट पहुंचाहते हुए . इन्ही तरह की परिस्थियों पे मेरी लेखनी मेरा साथ निभाती है और मेरे ह्रदय ही बेचैनी को जमाने तक लाने में सेतु का कार्य करती है. मेरे ह्रदय की आंदोलित अवस्थाओं का प्रतिफलन है ये छोटी छोटी हास्य व्ययांगतमक लघु कथाएँ जो मैं इस पुस्तक में प्रस्तुत कर रहा हूँ .
Read More...

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region.

Also Available On

अजय अमिताभ सुमन

दिल्ली हाई कोर्ट में पिछले एक दशक से ज्यादा समय से बौद्धिक संपदा विषयक क्षेत्र में वकालत जारी। अनगिनत कानूनी संबंधी लेख कानूनी पत्रिकाओं , जैसे कि पेटेंट एंड ट्रेड मार्क्स केसेस , लाव्येर्सक्लब इंडिया , लीगलसर्विसेज इंडिया , पाथ लीगल , लाइव लॉ , बार एंड बेंच , लीगल डिजायर , स्पाइसी आई पी , लेक्स एस्पायर जर्नल इत्यादि में प्रकाशित। वकालत करने के अलावा साहित्य में रूचि रही है। हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में समान अधिकार। अनगिनत पत्र , पत्रिकाओं में लेख , कथा , कहानियों का प्रकाशन। प्रकाशन: रचनाकार , साहित्य कुंज , स्टोरी मिरर , हिंदी लेखक , साहित्य सुधा , मातृ भारती , साहित्य , नव भारत टाइम्स, दैनिक जागरण , अमर उजाला, आज, हिंदुस्तान, आर्यावर्त , प्रतिलिपि , यूथ की आवाज , साहित्य पीडिया , स्पीकिंग ट्री ,शब्द, समजोद्धार, नूतन पथ, वाटपैड , स्वीक, मीडियम, हिंदी पत्रिका, कविशाला , सावन , स्टोरी वीवर , कहानियाँ, स्पीकिंग ट्री , प्रोज , आल पोएट्री , हेल्लो पोएट्री, पोएट्री हंटर , पोएट्री नेशन, मोवेल्लास , योर कोट , नोजोटो , मीराकी , बूक्सी , द राइटर इत्यादि अख़बारों और वेब पत्र-पत्रिकाओं में रचनाओं का प्रकाशन।
Read More...