Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Pankh Lage Ehsaas / पंख लगे एहसास अभी और ज़िन्दगी बाकी है।

Author Name: S. Priya | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details
यह किताब हमारे अन्दर उमड़ते हुए जज़्बातों का कविताओं के रूप में अभिभूत कर देने वाली एक सुंदर काव्य संग्रह है। हमारे उदासीन, अर्थहीन रोज़मर्रा के जीवन को जीवंत और उल्लास से भर देने के उद्देश्य से इसे लिखा गया है। हमारे छोटे -छोटे एहसासों को समेटने की एक छोटी सी कोशिश। अब यह कोशिश कितनी कामयाब हुई यह आप पढ़कर बताएँ।
Read More...
Paperback
Paperback 140

Inclusive of all taxes

Delivery by: 4th Oct - 7th Oct

Also Available On

एस. प्रिया

मैं बिहार के आर्यभट यूनिवर्सिटी से उत्तीर्ण इलेक्ट्रिकल & इलेक्ट्रॉनिक्स इंजिनियर हूँ जिसे वक्त ने लेखिका का रूप दे दिया। बिहार की मिट्टी में जन्मी और वही से शिक्षा भी पूरी की हुई ,आप में से ही एक मैं भी हूँ।
Read More...