Share this book with your friends

Prarmbh Shabd Udgaar / प्रारंभ शब्द उदगार (A Series of Shbd-Grz)

Author Name: Kailash Jangra Banbhori | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

इस पुस्तक में कुल 80 रचनाएं हैं। इसके पहले खडं में जिसमें 15 भक्ति रचनाएं शामिल है, जो आपके हृदय को भक्ति भावना से भर देगी। इनमें दिव्यता और भगवान के प्रति श्रद्धा भाव को बहुत ही सुंदरता से व्यक्त किया गया है। इसके दूसरे खडं में 40 प्रतीकात्मक रचनाएं शामिल है जो आपको एक अलग संदेश देती मिलेगी। इन रचनाओं के माध्यम से पाठक अपने अंतर्मन की गहराइयों को समझने और व्यक्त करने के लिए नए चिन्हों, अर्थों एवं दृष्टिकोण का अनभुव करेगा। इसके तीसरे खडं में, 20 प्रेम रचनाएं हैं जिसकी 20वीं रचना के भीतर 10 शायरियां सम्मिलित हैं। यह रचनाएं रूहानी अनभुवों और दिल की बातों को अभिव्यक्त करती है। और अतं में आपको कवि के शरुुआती लेखन की पांच रचनाएं भी पढ़ने को मिलेगी, जो सामान्य भावनाओं और जीवन की साधारिता को अभिव्यक्त करती हुई इस पुस्तक का समापन करती है।

Read More...
Paperback
Paperback 180

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

कैलाश जांगड़ा बनभौरी

कैलाश जांगड़ा बनभौरी का जन्म 24 अगस्त 2003 को बनभौरी नामक गांव में हुआ जो हरियाणा के हिसार जिले में स्थित है। ये अभी एक विद्यार्थी के रूप में, हिसार के गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई कर रहे हैं। इसके अलावा इन्होंने कंप्यूटर पर भी एक डिग्री कर रखी है। इनके पिता एक सरकारी अध्यापक एवं माता ग्रहणी है और ये तीन भाई बहन हैं जिनमें ये सबसे छोटे हैं।

इनके लेखन की बात की जाए तो, इन्होंने 13 वर्ष की उम्र में लिखना शुरू किया था तब ये नौंवी कक्षा में थे। उस समय इन्होंने एक उपन्यास भी लिखा परंतु वह अभी तक प्रकाशित नहीं कराया गया है। इन्होंने अंग्रेजी में एक लघु पुस्तिका(7-Titles: Shbd- Grz)भी लिखी है, जिसमें 7 रचनाएं शामिल है, जो एक अलग अलग संदेश प्रदान करती है। इनकी कुछ रचनाएं राष्ट्रीय अखबार 'अमर उजाला' में एवं हिसार के सांय कालीन समाचार पत्र 'नभ - छोर' में भी प्रकाशित हो चुकी है। इनकी उत्कृष्ट रचना के लिए इनको कई बार सम्मानित भी किया गया है।

Read More...

Achievements