Hindi

एक अनजाना सा रिश्ता
By Priti tiwari in Poetry | Reads: 79 | Likes: 0
           एक अनजाना सा रिश्ता यूँ तो उनसे रिश्ता मेरा खून का नहीं पर खून से बढ़कर है वो मेरे लिए   एक वक़्त था   Read More...
Published on Apr 18,2020 09:19 AM
डर मुझे
By MR VIVEK KUMAR PANDEY in Poetry | Reads: 99 | Likes: 1
डर मुझे लगा फासला देख कर पर मैं बढ़ता गया रास्ता देख कर ख़ुद ब ख़ुद मेरे नजदीक आती गई , मेरी मंजिल मेरा हौंसला देख कर.  Read More...
Published on Apr 18,2020 11:42 AM
मोहब्बत को किरदार बना कर देखो
By Ajahar Rahaman in Poetry | Reads: 105 | Likes: 1
मोहब्बत में दीदार को किरदार बना करतो देखो । सुना है  ओ पत्थर दिल हैं ,जरा उनसे भी दिल लगा करतो देखो । हमें मोहब्बत ह  Read More...
Published on Apr 18,2020 01:53 PM
एक मजदूर की कहानी _ लॉकडाउन
By creativeangelbs@gmail.com in Poetry | Reads: 80 | Likes: 0
एक मजदूर की कहानी _ लॉकडाउन  ये कहानी जो कविता के माध्यम से कही है मैंने ये उस मज़दूर की जो रोज़ी रोटी और तरक्की की उ  Read More...
Published on Apr 18,2020 06:22 PM
वो फिर आएगी
By Tanya kaushik in Romance | Reads: 123 | Likes: 5
असर होगा दुआओं का,     भरोसा रख,  वो फिर लौट कर आएगी | तेरे सजदे में खुशियाँ भरने,     वो फिर लौट कर आएगी | तू जो   Read More...
Published on Apr 18,2020 06:56 PM
अगर यही प्यार है!
By Manya in True Story | Reads: 89 | Likes: 2
अकसर शहर बदलना या तो कुछ नया पाने के लिए होता है या बहुत कुछ खोने की वजह। पर मेरे साथ ऐसा दोनों नहीं था। शुरुआत पंजाब  Read More...
Published on Apr 18,2020 08:33 PM
कंसर्न
By Nidhi Pant in General Literary | Reads: 85 | Likes: 0
आशिक़ी मौशकी पर कलम चले तो पढ़ना अच्छा लगने लगता है ,ज्वलंत मुद्दों पर  तो हमको कोरा ज्ञान ही चलता है। दिल लगाने तो  Read More...
Published on Apr 19,2020 01:19 PM
Daughters
By charu in Poetry | Reads: 119 | Likes: 2
एक फूल हूँ नाजुक सा इस दुनियाँ मे आया हूँ। चार दिन के लिए  किसी को खुशी देने आया हूँ। पढ रहा हूँ  अपना सपना पाने ही   Read More...
Published on Apr 19,2020 03:11 PM
यही अंजाम होना था
By Shirsath Samiksha in Poetry | Reads: 80 | Likes: 0
यही अंजाम होना था... बिना तुम्हारी इजाज़त तुमसे दिल लगा बैठे, बदले में दर्द और आंसू का मिलना, एकतरफा मोहब्बत का तो यह  Read More...
Published on Apr 19,2020 04:21 PM
ठहराव
By Manpreet Sarla in Poetry | Reads: 94 | Likes: 0
ठहरे हुए पानी में जैसे थोड़ा बहाव ज़रूरी था, भागती दौड़ती इस ज़िदगी में थोड़ा ठहराव ज़रूरी था, ज़रूरी था कि हम अपने अंतर्मन   Read More...
Published on Apr 19,2020 04:57 PM
Or sunao? Koi story.... #part 1
By Nandini in True Story | Reads: 443 | Likes: 1
Hum  pharmaceutics lab me the .Practical khtm ho gya tha or sabko apne apne glass apparatus ko Wash krne ke liye bola gya tha.Bt as usually humari lab me Paani nhi tha or Hume bahr jake tapwater se unhe wash Krna tha . Sbhi kaamchor students ne apne apparatus apne sathiyon ko de diye the... Mai  Read More...
Published on Apr 19,2020 05:07 PM
BAATE UNN SAAMO KI
By Ayush Bijalwan in Poetry | Reads: 81 | Likes: 0
Muje aaj be pyar he tumhare saath guzari har Ek saam se   Read More...
Published on Apr 19,2020 05:14 PM
मेरा चांद
By Ayush Bijalwan in Poetry | Reads: 89 | Likes: 0
वो चांद देखने को केहते रहे , हम उनके चेहरे पे देखते रहे ।  फिर अल्फाज उनके कहने लगे , की चेहरा नई चांद देखिए ।  हमने   Read More...
Published on Apr 19,2020 05:22 PM
गुजर बसर
By Jyotsna Wanjari in Poetry | Reads: 97 | Likes: 0
हमसफ़र छोड़ दिया है मैंने ये जानकर सब सोचने लगे अपने जिंदगी के फलसफे मुझसे बाटने लगे कोई कहता आशिया अपना फिरसे सजा  Read More...
Published on Apr 19,2020 07:39 PM
अनसुनी कहानी
By Manish in Poetry | Reads: 87 | Likes: 0
____ अनसुनी कहानी _______   एक प्यारी लड़की से  मुलाकात हुई थी उसे देख कर मेरे इश्किया  गांव में बरसात हुई थी   उसका चे  Read More...
Published on Apr 19,2020 08:21 PM