কবিতা

समय बीतता गया और दूरियां बढ़ती गई ख्याल तुम्हारा दब गए पलकों तल  বেশি পড়ুন...
373 1 পছন্দ
दूरियां
'No strings attached' is what they like, 'Blind dates' and 'no commitments' aces the race. Pardon me if I missed the best. For according to me, the ones who follow -  বেশি পড়ুন...
373 5 পছন্দ
Paving way for self love!
By Oindrila Ghosh in Poetry
ये दिल बड़ा नादान है, तेरा हर लफ्ज़ इसके अंदर है, तेरी हर बात इसम  বেশি পড়ুন...
371 0 পছন্দ
इतना सताती हो अब क्या मार ही डालोगी?
वो पहली पहली बार किसी को देख मुस्कुराना  किसी की नैनो से खुद को   বেশি পড়ুন...
368 2 পছন্দ
Collage Wali Yadein (कॉलेजवाली यादे )
By Pratik Badjate. in Poetry
what is it like to love someone so deeplyto the point where you start believingthat your heart, is never going to be enoughto hold you on your feet everytime they ca  বেশি পড়ুন...
368 0 পছন্দ
questions that i ask to myself, whenever your name come
By bidisha p kashyap in Poetry
கல்நெஞ்சம் கரைந்து போகும்.. உள்ளுயிரும்  உறைந்து போகும்.. சொல  বেশি পড়ুন...
368 0 পছন্দ
காதல்
The wedding party arrives at Ayodhya on the exit of Parashu Rama. Yudhaajit, the maternal uncle of Bharata, who came before marriages, now takes Bharata and Shatrugh  বেশি পড়ুন...
367 0 পছন্দ
Happy days after marriages
                      "सिर्फ तुम"   मैं शायद हूँ,यकीं तुम हो   मेरे चहरे पर   বেশি পড়ুন...
364 1 পছন্দ
"सिर्फ तुम"
By Lovelesh Bhagat in Poetry
क्या  बैध्य और क्या हकीम सभी कर चुके मेरा इलाज मैं रोगी था इश्क़  বেশি পড়ুন...
363 0 পছন্দ
रोगी इश्क़ का
By jameel jadugar in Poetry
के रुक गया में एक और डगर देख बिखरते रास्ते ना जाने किस मंजिल के व  বেশি পড়ুন...
362 0 পছন্দ
अमन
By Nilesh in Poetry
लौटा दो वह बचपन ,  जहां कोई गम ना था। कभी किसी को खोने का डर ना था,   বেশি পড়ুন...
362 1 পছন্দ
बचपन
By Ratnam Pathak in Poetry
                                                                             साजन आज तुम आन मिलो  বেশি পড়ুন...
361 0 পছন্দ
साजन तुम आज आन मिलो ---
Sometimes I want to become ugly,  So people would less notice me...  Sometimes I want to hide myself,  So that they wouldn't find me...  Sometimes I want to talk  বেশি পড়ুন...
360 2 পছন্দ
My Worth
By Anwesha Nayak in Poetry
इस बेबुनियाद इश्क़ को लफ्ज़ो में बयां न कर पाएंगे   বেশি পড়ুন...
359 0 পছন্দ
बेबुनियाद इश्क़
By Nisha in Poetry
மனம் பிரியா துயரை,  பிரிந் தளித்து சென்றாய்...  என்னவள் உன்னுள  বেশি পড়ুন...
357 1 পছন্দ
என்னவள் உன்னுள் தவறில்லை
By sathya in Poetry