Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Apradh Aau Dand - Khand 2 / अपराध आउ दंड - खंड 2

Author Name: Narayan Prasad | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

विश्व प्रसिद्ध रूसी उपन्यास “Преступление и наказание” (प्रिस्तुपलेनिए इ नकऽज़ानिए) के मगही अनुवाद “अपराध आउ दंड” मगहीभाषी आउ पाठक के बीच प्रस्तुत करते बड़गो खुशी हो रहले ह। ई अनुवाद लमगर समय से वांछित हलइ, जे मगही में गद्य साहित्य के खल रहल कमी के कुछ दूर करे में योगदान करतइ। ई मगही में प्रकाशित सबसे बड़गो उपन्यास, 600 पृष्ठ से भी अधिक, हइ।

ई मगही अनुवाद में, बहुसंख्यक फुटनोट आउ बहुत कुछ अद्यतन शोध सामग्री देल गेले ह, जे पाठ के समझे में आसानी प्रदान करतइ आउ शोध कार्य में भी मदत करतइ। दस्तयेव्स्की के जीवन आउ रचना से संबंधित महत्त्वपूर्ण सूचना आउ उनका पर कइल अद्यतन शोध कार्य उनकर अन्य पुस्तक “Записки из мёртвого дома” (ज़पिस्की इज़ म्योर्तववऽ दोमा) के मगही में “कालापानी”(2017) शीर्षक से प्रकाशित पुस्तक में देखल जा सकऽ हइ।

हिन्दी पाठक लगी भी ई पुस्तक बहुत उपयोगी होतइ, विशेष रूप से अद्यतन सूचना के संबंध में।

Read More...
Paperback
Paperback 399

Inclusive of all taxes

Delivery by: 9th Aug - 12th Aug

Also Available On

नारायण प्रसाद

लेखक, नारायण प्रसाद, सेवा-निवृत्त इंजीनियर हथिन। जन्म तारीख 15 अप्रैल 1955, जन्म स्थान - बिहार के नालन्दा जिला। कॉलेज स्तर तक के शिक्षा हिन्दी माध्यम से आउ तकनीकी शिक्षा अंग्रेजी माध्यम से। मातृभाषा - मगही।

उनकर चार पुस्तक प्रकाशित हइ - (1) एगो अंग्रेजी अनुवाद, रूसी से (2) तीन गो मगही अनुवाद - एगो कन्नड से आउ दू गो रूसी से। लेरमंतव के उपन्यास "गिरोय नाशेवऽ व्रेमेनी" के मगही अनुवाद "आझकल के हीरो" खातिर 2019 में "लेरमंतव मेडल" से पुरस्कृत।

दस्तयेव्स्की के विश्व प्रसिद्ध उपन्यास "प्रिस्तुपलेनिए इ नकऽज़ानिए" के महत्त्व के ध्यान में रखके, एकरो मगही अनुवाद "अपराध आउ दंड" कइलथिन हँ। ऊ आउ कइएक दोसर रूसी क्लासिक रचना के अनुवाद कइलथिन हँ, जेकर प्रकाशन अभी होवे के हइ। लेखक के संस्कृत व्याकरण, भारतीय ज्योतिष (Indian Astronomy) आदि पर भी कइएक लेख प्रकाशित हइ।

ब्लॉग: https://magahi-sahitya.blogspot.com/

फेसबुक: https://www.facebook.com/narayan.prasad.9699

ई-मेल: nprasnb@rediffmail.com

Read More...