Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Daastan-Ae-Kalam / दास्तान-ए-कलम

Author Name: Shanu Gupta | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

शानू गुप्ता की यह कविताओ की पुस्तक कुछ साधारण व कुछ काल्पनिक जीवन से संबंधित है। यह पुस्तक उनके द्वारा कई लोगो को समर्पित करते हुए लिखी गयी है। कविताएं कई मित्रो को, कई शत्रु को और कई अपने सगे संबंधित को याद करके लिखी गई है।

इस पुस्तक में प्यार, क्रोध, त्योहार, बचपन के हसीन पल, अपनो के दूर जाने पर तथा अपने माता पिता की छवि का अपनी कविता के द्वारा वर्णित किया है। उनकी कविताएं विभिन्न शैलियों में लिखी गयी है। उनकी पुस्तक में काफी त्यौहार जैसे होली, दिवाली और राखी जैसे विभिन्न विषयो पर कविताएं है। इस पुस्तक में कई ऐसी कविताए है, जो आम जन को अच्छा कार्य करने व मेहनत करने के लिए प्रेरित करती है। इस पुस्तक की कविताओ में भगवान की रचनाओं व अपने सपनो का वर्णन भी किया है।

उनकी मित्र की कविता साक्षी, शिल्पा, नमन, अमन, उनके भाई प्रखर, बहन साक्षी व अन्य प्रिय मित्रों को समर्पित है।

Read More...
Paperback
Paperback 160

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

शानू गुप्ता

शानू गुप्ता। उनकी उम्र 17 वर्ष है, वर्तमान में वह बी.कॉम तृतीय वर्ष के विद्यार्थी है। साथ मे वह सी.ए.मध्यवर्ती स्तर के दूसरे समूह के छात्र भी है। उन्होंने लिखना डेढ़ वर्ष पहले शुरू किया था। उन्हें खुद नही पता था कि जिस काम को उन्होंने अपने मजे के लिए शुरू किया था, वह उस काम मे इतने आगे जायेंगे। वह मूल रूप से अलवर राजस्थान से है। वह जब 16 वर्ष के थे, उन्होंने तब लिखना शुरू किया था और यात्रा अब तक जारी है। उनके द्वारा लिखित काफी कवितायें विभिन्न- विभिन्न समाचार पत्रो व पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई है। वह इससे पहले अपनी एक किताब 1 साल पहले कुछ अल्फ़ाज़ इस तरह प्रकाशित कर चुके है और यह किताब उनकी दूसरी किताब होगी। लेखन के अलावा वह अभिक्रति नामक संस्थान के संस्थापक है, जो समाज के प्रति अपना योगदान देता है। यह कच्ची बस्तियों के लिए कभी-कभी भोजन की व्यवस्था करता है तथा बस्तियों के बच्चो को पढ़ाता है। वह अपने जीवन मे व्यस्त रहना पसंद करते है। वह इनके अलावा कई गतिविधियो को करना भी पसंद करते हैं। जिसमे वह पेंटिंग करना, फोटोग्राफी करना और गिटार बजाना भी पसंद करते है। वो अपने जीवन मे काफी कुछ करना चाहते है। उनका कहना है कि वह इस पुस्तक से प्राप्त आय का 30% से 50% हिस्सा अपनी संस्थान में दान करेंगे। 

आप उन तक इस ईमेल के द्वारा पहुंच सकते है।

Mail-Guptashanu621@gmail.com  Instagram-@shanu.2308

अभिक्रति फाउंडेशन 

  @abhikrati.ngo         www.abhikrati.org

Read More...