Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

JEE LO BACHPAN / जी लो बचपन

Author Name: S. D. Tiwari | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

बचपन क्या निधि है, उसे बच्चे नहीं समझ पाते। जब बचपन बीत जाता है तो पता चलता है कि हमने जीवन की सबसे बड़ी निधि खो दिया है, जो फिर से कभी वापिस नहीं मिलने वाला। बच्चों का भोलापन सभी के मन को आनंद से भर देता है। उत्तरदायित्यों और चिंताओं से मुक्त, अपना पराया और छल कपट से रहित, नाना खेलों से युक्त बच्चों का जीवन देखकर, यही लगता है कि एक बार फिर से बचपन में लौट जाएँ। कवि श्री एस. डी. तिवारी ने, अपनी पुस्तक 'जी लो बचपन' में बचपन के विभिन्न आयामों को टटोलते हुए, छोटे छोटे छंदों में पूरा बचपन समेटने का प्रयत्न किया है। इस पुस्तक के द्वारा गांव, नगर, खेल, खिलौने, खाना, पहनना, पढ़ाई, नाता, नटखटपना इत्यादि अनेक पहलुओं को स्पर्श करते हुए, शब्दों में ही बचपन को एक बार पुनः जीने का प्रयास किया है। 'जी लो बचपन' में हाइकु और त्रिपदीय छंदों में सम्पूर्ण बालपन का अवलोकन एक ही स्थान पर किया जा सकता है। इस पुस्तक 'जी लो बचपन' के छोटे छोटे प्रत्येक छंद, अपने आप में एक पूर्ण कविता है। इस प्रकार एक ही पुस्तक में बचपन से सम्बंधित ग्यारह सौ से भी अधिक कवितायेँ एक साथ उपलब्ध हैं।

Read More...
Paperback
Paperback 245

Inclusive of all taxes

Delivery by: 26th Apr - 29th Apr

Also Available On

एस. डी. तिवारी

श्री एस. डी. तिवारी हिंदी और अंग्रेजी भाषा के एक जाने माने कवि हैं। उनकी कविताओं में अति स्पष्ट और वृहत दर्शन का समावेश है। काव्य की लगभग सभी विधाओं के रचनाकार, पेशे से वकील, तिवारी जी की २५ पुस्तकें प्रकशित हो चुकी हैं। एक साथ सर्वाधिक बीस पुस्तकों के लोकार्पण पर उनका नाम 'इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स' में अंकित है। उन्हें अपनी कृतियों के लिए अनेक संस्थाओं द्वारा सम्मानित किया गया है। श्री तिवारी की हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ की मनोहारी कवितायेँ मन को छूने वाली हैं। उनकी दो अंग्रेजी काव्य पुस्तकें नोशन प्रेस द्वारा ही प्रकाशित हैं। 

श्री एस डी तिवारी की कुछ प्रकाशित पुस्तकें हैं : दुनिया गिर गयी, हाइकु शास्त्र, त्रिपदी रामायण, प्यार का पिंजरा, नन्हीं, विदेश की चटनी, कविता तो बोलेगी, चाँद के गांव, तेरे नाम के मोती, दी सिंगिंग ब्रीज, बर्ड्स ऑफ़ चैटिंग वर्ड्स आदि।   

 

Read More...