Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Vividhtao ke Swar / विविधताओं के स्वर

Author Name: Shrimati Satya Saxena | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

विविधताओं के स्वर श्रीमती सत्या सक्सेना की पहली किताब है जिसमें उन्होंने अलग अलग विषयों पर अपने विचार  कविताओं के रूप में प्रस्तुत किया है

इस पुस्तक के माध्यम से उन्होंने समाज के सामने हककित को प्रस्तुत किया है ये बताया है कि इस समय लोग किन परिस्थितयों से किस किस तरह गुजरे है और क्या परिणाम रहे 

आप इन कविताओ के माध्य्म से जीवन की सच्चाई को महसूस कर पाएंगे

Read More...
Paperback
Paperback 250

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

श्रीमती सत्या सक्सेना

प्रत्येक व्यक्ति में कुछ अनोखा  करने की प्रतिभा होती है, श्रीमती सत्या सक्सेना उन्हीं लोगों में से एक है,

जिन्होंने अपने जीवन में अनेकों उपाधियों को प्राप्त किया है वह उच्च शिक्षिका के पद से कार्य मुक्त हुई है,

उन्हें सर्वश्रेष्ठ शिक्षिका के लिए राष्ट्रपति एवं राज्यपाल पुरस्कार  से सम्मानित किया गया है,

उन्होंने आकाशवाणी के माध्यम से भी शिक्षाप्रद बाते छात्र एवं छात्राओं के लिए कही है एवं वह कई समाज सेवी संस्थाओं के साथ समाज सेवा एवं जान कल्याण कार्यों में अपनी सेवाएं निरंतर प्रदान कर रही है ।

उनको बचपन से ही लेखन कार्य एवं कला के क्षेत्र में रूचि थी, स्वयं की लिखी हुई कविता,गाने, नाटक एवं नृत्य नाटिका का मंचन कर कई पुरस्कार प्राप्त किए है।

Read More...