10 Years of Celebrating Indie Authors

Hitesh

Achievements

+9 moreView All

नूतन कविता नूतन श्रृंगार (नई शैली की कविताएँ)

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

कवि की कलम से.....
          कविता कवि के उर का अविष्कार है, कल्पना लोक का साक्षात्कार है और नूतन शब्दों का चमत्कार है। कवि की भावनाओं को छंद इत्यादि नियमों में बाँधना मुक्त ग

Read More... Buy Now

दोपहर का सूरज शेरशाह

Books by राजेन्द्र राज (लघु-उपन्यास)

भूमिका
कुछ अपनी बात

मेरा इतिहास से लगाव तो है, परंतु स्वयं को अल्पज्ञ ही समझता। शेरशाह या शेरखां। बचपन में उसे फरीद खां कहा जाता था। इन पर लिखने का मतलब हिन्दुस्तान के उस काल

Read More... Buy Now

यूँ ही बज गई बाँसुरी

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

  वर्ण पिरामिड हिंदी साहित्य में एक नई काव्य-विधा है। इसके जनक श्री सुरेश पाल वर्मा 'जसाला' जी है। यह हाइकु की तरह विषम चरणों वाली काव्य-विधा है। इस विधा में सात चरण हैं। अर्थात्

Read More... Buy Now

विचारों का डमरू नाद

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

वर्ण पिरामिड क्या है?
      वर्ण पिरामिड हिंदी साहित्य में एक नई काव्य-विधा है। इसके जनक श्री सुरेश पाल वर्मा 'जसाला' जी है। यह हाइकु की तरह विषम चरणों वाली काव्य-विधा है। इस वि

Read More... Buy Now

"सत्य" की परछाई सिर्फ "मौन"

Books by डॉ. सुनीता बुंदेले

साहित्य समाज का दर्पण होता है, जिसमें विविध सामाजिक समस्याएं प्रतिबिंबित होती है। साहित्य समाज की विसंगतियों को उद्घाटित कराके बदलते हुये सामाजिक मूल्यों के प्रति लोकमानस को

Read More... Buy Now

अनुसंधान जारी है

Books by डॉ. अनिल कुमार दिनकर

ख़ुदा की ख़ुदखुशी
 

यदि कोई

ख़ुदा था तो उसने

ख़ुदखुशी करली उस दिन

जब चार दरिन्दों ने

अस्मत लूटी थी

बूड़े जुम्मन की फूल-सी

बेटी की

और चीर डाला था

Read More... Buy Now

सृजन के मोती (काव्य-संग्रह)

Books by सुमन सिंह

कवि की कलम से

"सृजन के मोती" ये मेरी पहली एकल काव्य संग्रह है, जो आप सभी पाठकों को समर्पित है। इस काव्य संग्रह में मैंने रचनाओं का समावेश सभी आयु वर्ग, जिसमें विशेष रूप से बच्चे स

Read More... Buy Now

श्रृंगार सरिता

Books by उमाकांत त्रिपाठी "निश्छल"

प्रस्तुत पुस्तक "श्रृँगार सरिता" को आप सबके समक्ष प्रस्तुत करते हुए मन में अपार हर्ष की अनुभूति हो रही है।

        समानता-असमानता,अमीरी-गरीबी सांसारिक जीवन और समय चक्र की प

Read More... Buy Now

विजय-पथ

Books by विजय कुमार "विजय"

प्रस्तावना

मेरी यह किताब समाज की सेवा करने व समाज को जागरुक रखने का एक छोटा सा प्रयास मात्र है। इस पुस्तक के माध्यम से मैंने समाज को कुछ संदेश देने का प्रयास किया है। ये केवल म

Read More... Buy Now

अस्तित्व एक प्रेरणा

Books by प्रवीण पंड्या “प्यासा”

निमंत्रण
 

कर रहे है अन्नपूर्णा तुम्हारा।

निमंत्रण हमारा स्वीकार करो।।

कल कोई भूखा न सोए।

हर एक का  स्वीकार करो।।

मन में खोए, मन से जागे।

मन में प्रीत समाए

Read More... Buy Now

काव्य-पारायण

Books by अंजू , विनय, वीणा

इस त्रयी काव्य-संकलन "काव्य-पारायण" में क्रमशः अंजू कालरा दासन "नलिनी", डॉ.विनय कुमार सिंघल "निश्छल" व डॉ.वीणा शंकर शर्मा "चित्रलेखा", तीन कवि/कवयित्रियाँ सम्मिलित हैं। यह इनका चौथा

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग - आठ)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यदि प्रकाशनाधीन काव्य-संकलन समय पर प्राप्त हो गए तो यह काव्य-संकलन ७८वाँ होगा। मैं इस उपलब्धि के लिए उत्साहित हूँ। लेखन अभी गतिमान है। माँ सरस्वती की क्या योजना है मैं नहीं जानत

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग - दस)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यह मेरा ५३ वाँ एकल काव्य-संकलन है। ईश्वर को ही ज्ञात है कि मैं अपने जीते जी कितने एकल व अन्य काव्य-संकलन प्रकाशित करवा पाऊँगा। प्रयासरत हूँ। मेरा स्वास्थ्य लगभग चार वर्ष से अच्छा

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग - नौ)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यह मेरा कुल मिला कर ८१ वाँ काव्य-संकलन है व ५१वाँ एकल काव्य-संकलन है। आज स्वास्थ्य कुछ अधिक ही गड़बड़ है अतः मैं इस उपोद्घात् को यहीं विराम दे रहा हूँ। पाठक इसे पढ़ कर अपनी प्रतिक्रिय

Read More... Buy Now

मन-मंदिर

Books by रश्मि पांडेय "शुभि"

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुल

Read More... Buy Now

जीने की चाह

Books by रवि शंकर बिलगैया

"जीने की चाह " काव्य संग्रह मां सरस्वती की कृपा से पूर्ण कर पाया हूं ।इस पुस्तक के पढ़ने तथा इसके अमल करने से लोगो के जीवन मे सुधार आ सकता है। अपना जीवन सुखी एवं समृद्ध शाली बनाने के

Read More... Buy Now

राम का अंतर्द्वंद्व

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

इस लघुखंड काव्य की एक और बड़ी विशेषता यह है कि यह खंड काव्य छंद बद्ध है और राम के अन्तर्मन में उठने वाले हर संचारी भाव को ,जो समय-समय पर पानी के बुलबुलों की तरह संचरण करते हैं,उन्हें

Read More... Buy Now

विस्मृत दृष्टांत

Books by डॉ. हिमांशु शेखर

मेरी पुस्तक “विस्मृत दृष्टांत” अपने नाम के अनुरूप उन पौराणिक और पर्व से जुड़ी कथाओ को काव्य रूप में प्रस्तुत करने का एक प्रयास है| आशा है, ये पाठको में उत्साह उत्पन्न कर पायेगी|

Read More... Buy Now

मन की चंचलता

Books by रवि शंकर बिलगैया

सर्वप्रथम में सरस्वती मां को नमन करते हुए काव्य के इस समुंदर में गोता लगाने के लिए मेरे पूज्य पिता स्वर्गीय श्री नाथूराम बिलगैया का आशीष मिला था जिसका ईश्वर की कृपा से मेरे अंदर

Read More... Buy Now

गुजरा हुआ अंधेरा

Books by लव कुमार “लव”

कविता के आंगन में
         आज के दौर की कविता बेशक साहित्य की सभी विधाओं में सर्वमान्य एंव सर्वोपरि का खिताब हासिल कर पुस्तकों का सेहरा बनी हो, परंतु इसमें भी कोई दो राय नही

Read More... Buy Now

शेखर के विधाता

Books by डॉ. हिमांशु शेखर

इसमें हर कविता के मूल भाव अलग है, सन्दर्भ अलग है, आक्षेप अलग है, शब्द विन्यास अलग है, अर्थ अलग है ..... पर हर कविता में एक समान मात्रा विन्यास है, एक समान गेयता है, एक तरह के आरोह अवरोह है|

Read More... Buy Now

विचारों का घंटारव

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

वर्ण पिरामिड क्या है?
 

वर्ण पिरामिड हिंदी साहित्य में एक नई काव्य-विधा है। इसके जनक श्री सुरेश पाल वर्मा 'जसाला' जी है। यह हाइकु की तरह विषम चरणों वाली काव्य-विधा है। इस विधा

Read More... Buy Now

प्रकृति से वार्तालाप

Books by अंजू कालरा दासन "नलिनी" डॉ.विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यह काव्य-यात्रा अनेक कलेवरों में गतिमान है यथा एकल काव्य-संकलन, युगल काव्य-संकलन, त्रयी काव्य-संकलन व अन्य संयुक्त काव्य-संकलन आदि।

स्वास्थ्य बहुत रुष्ट चल रहा है फिर भी साहस

Read More... Buy Now

विचार-शंखनाद

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

वर्ण पिरामिड हिंदी साहित्य में एक नई काव्य-विधा है। इसके जनक श्री सुरेश पाल वर्मा 'जसाला' जी है। यह हाइकु की तरह विषम चरणों वाली काव्य-विधा है। इस विधा में सात चरण हैं। अर्थात् यह

Read More... Buy Now

गीत-गुलशन

Books by संतोष कुमार 'अजुबा'

बोलो राम, सियाराम, जय राम राम राम।

राम नाम है मंत्र, अयोध्या मुक्ति धाम।।

राम नाम बिन पुरुष अधूरा, जीवन ना पूरा,

जो न भजे राम का नाम,, जीना उसका है बेसुरा,,

मिले नही उसे जग

Read More... Buy Now

काव्य-धारा

Books by चंद्रकांत पांडेय 'चंद्र'

मैं चंद्रकांत पांडेय 'चंद्र'  अपनी रचनाओं का प्रथम पुष्प "काव्य धारा" अपनी धर्म पत्नी स्वर्गीय निर्मला चंद्रकांत पांडेय को समर्पित करता हूँ। जिन्होंने अपने जीवन के पैतीस वर्ष

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग - सात)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

आजकल मेरे चेतन-अचेतन, दोनों ही मन अन्यमनस्क हैं। कविता मेरे प्राणों में बसती है इसलिए लेखन जीवित है।

कुछ आयु का, कुछ परिवेश का, कुछ वातावरण का और कुछ अन्यमनस्कता का, समवेत प्रभ

Read More... Buy Now

गरीब हटाओ

Books by श्रीप्रकाश गुप्ता

गरीब हटाओ

नाटककार - श्री प्रकाश गुप्ता

सेट 

1 - ब्रह्मालोक - पर्दा पर सौर मंडल के बीच घूमती पृथ्वी।   

    कमल के फूल पर ब्रह्मा । पीछे बादलों का झुंड 

2 - यमलोक &n

Read More... Buy Now

करवाचौथ

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुलाई

Read More... Buy Now

अग्नि-परीक्षा

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुलाई

Read More... Buy Now

अग्नि-कुण्ड

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुलाई

Read More... Buy Now

काव्य-अनुष्ठान

Books by डॉ. वीणा शंकर शर्मा "चित्रलेखा" अंजू कालरा दासन "नलिनी" डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

मुझे अनुमान नहीं था कि हम तीन कवि/कवयित्रियाँ देखते-देखते यह चौथा त्रयी काव्य-संकलन "काव्य-अनुष्ठान" प्रकाशित करवा देंगे।

इस काव्य-संकलन के नाम करण का श्रेय अंजू कालरा दासन "न

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग- छ:)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यह मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला का भाग-६ है। कुल मिला कर मेरे सब प्रकार के काव्य-संकलनों को मिला कर ७७ काव्य-संकलन हो गये हैं। माँ सरस्वती की महती कृपा है। इनके अतिरिक्त दो संयुक्

Read More... Buy Now

दीप-शिखा

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुल

Read More... Buy Now

राधा-कृष्ण श्रृंगार लीला

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

ओशो की कलम से राधा-कृष्ण के भावों का अलंकरण..........

         कृष्ण अकेले हैं जो शरीर को उसकी समस्तता में स्वीकार कर लेते हैं, उसकी टोटेलिटी में। यह एक आयाम में नहीं, सभी आयाम मे

Read More... Buy Now

यात्रा

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला (भाग - पाँच)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

यह मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला का पाँचवाँ भाग है। जब तक प्रभु इच्छा रहेगी मेरा लेखन अबाध चलता रहेगा। किसी से भी मेरी प्रतिस्पर्धा नहीं है। मैं मौलिक लेखन का हृदय से सम्मान करता

Read More... Buy Now

१०८ पिरामिड मनका

Books by समीर उपाध्याय "ललित"

      वर्ण पिरामिड बढ़ते हुए वर्ण क्रम में प्रथम, द्वतीय, तृतीय ऐसे सात पंक्तियों की पिरामिड आकार की एक सुंदर रचना है ।जाने-माने कवि, साहित्यकार एंव शिक्षक आदरणीय समीर उपाध्या

Read More... Buy Now

अमृत मोहत्सव

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुलाई

Read More... Buy Now

राधा बिना कृष्ण आधा

Books by समीर उपाध्याय "ललित"

कवि की कलम से राधा-कृष्ण के भावों का अलंकरण.....

         दिव्य शक्तियाँ पृथ्वी पर अनेक रूपों में अवतरित हुई हैं, किंतु राधा-कृष्ण की छवि ने मुझे ज्यादा लुभाया है। निर्मल और न

Read More... Buy Now

मुक्ताकाश

Books by डॉ. अभिषेक कुमार

01. बेहया, बदचलन, छिनाल...
" बेहया , बदचलन , छिनाल ... मेरे पीठ पीछे दूसरे मर्दों के साथ गुलछर्रे उड़ाती है , कमीनी ... रंडी .... मैंने कल सब अपनी आँखों से देख लिया था ... " राकेश जमीन पर नीचे गिर कर

Read More... Buy Now

आजादी का अमृत मोहत्सव

Books by हितेश रंजन दे

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना श्री हितेश रंजन दे द्वारा १२ जुलाई

Read More... Buy Now

काव्य-यज्ञ

Books by अंजू कालरा दासन "नलिनी", डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल", डॉ. वीणा शंकर शर्मा "चित्रलेखा"

विनय जी अपने समकालीन कवियों से पचास वर्ष आगे हैं। यह बात आज और भी सार्थक है, मैं अकिंचन भ्राता गुरु के लिये जितना कहूं कम है l डॉ. वीणा के गुण क्या कहूं जैसी हैं हृदय से वैसी ही बाहर स

Read More... Buy Now

होली आयी

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

गुरु-महिमा

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

ममतामयी माँ

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना

Read More... Buy Now

अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी

Books by संपादक : हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ श्रृंखला (भाग - चार)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला का यह चौथा भाग है। मेरी काव्य-यात्रा गतिमान है और लगता है गतिमान रहेगी यद्यपि मेरा स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता। अधिकतर समय मेरा एक भिन्न प्रकार की मौन-स

Read More... Buy Now

होली के रंग ग़ुलाल

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

रंग बरसे

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

अशोक शुभदर्शी की प्रतिनिधि कविताएँ

Books by हितेश रंजन दे

आधुनिक हिंदी साहित्य के बहुचर्चित कवियों में एक नाम अशोक शुभदर्शी का भी आता है। इनकी भाषा-शैली बहुत ही सरल है जिसके कारण सभी वर्गों के पाठकों के ये दिनों-दिन प्रिय होते जा रहे है

Read More... Buy Now

सबसे प्यारी माँ

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला भाग- तीन

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰


"मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला" का यह तीसरा भाग है। माँ शारदा के आशीर्वाद से यह शृंखला चलती रहेगी।
काव्य-सृजन मेरा व्यसन है १९६७ से। अभी तक कुल मिला कर

Read More... Buy Now

आँचल की छाँव

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना

Read More... Buy Now

मेरी माँ

Books by हितेश रंजन दे

 साहित्य धरा अकादमी :

एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।

इस संस्था की स्

Read More... Buy Now

ममता की मूरत

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

झारखण्ड की पावन भूमि दुमका जिले के अंदर स्थित साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों की एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्था है।
इस संस्था की स्थापना

Read More... Buy Now

काव्य-कुम्भ (त्रयी काव्य-संकलन)

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल", डॉ. वीणा शंकर शर्मा "चित्रलेखा", अंजू कालरा दासन "नलिनी"

उलझन में हूँ, कहाँ से आरम्भ करूँ और कहाँ उपसंहार करूँ इस उपोद्घात् का। फिर भी अपने दायित्व का निर्वहन तो करना ही है। यह तीन कवियों का दूसरा त्रयी काव्य-संकलन है। तीनों ही अवर्णनी

Read More... Buy Now

शब्द मुखर हो उठे

Books by डॉ. पुष्पा जमुआर

'मेरी कव्य संग्रह "शव्द मुखर हो उठे" आपके हाथों में देते हुए मुझे अपार हर्ष की अनुभूति हो रही है। यथार्थ एवं कल्पना के चित्र के साथ देखे, सुने, भोगे, हुए पल जब मेरे दिलो-दिमाग में भाव-

Read More... Buy Now

छप्पन-भोग

Books by समीर उपाध्याय "ललित"

कवि की कलम से.................

      ईश्वर ने पृथ्वी पर अनेक रूपों में मानव जन्म धारण किया है, किंतु श्री कृष्ण का व्यक्तित्व एवं कृतित्व बहुआयामी एवं बहुरंगी है। यही कारण है कि मैं उन

Read More... Buy Now

भावअर्चना

Books by अर्चना जायसवाल "सरताज"

श्री मां शारदा की कृपा से समय-समय विभिन्न विषयो पर उठे अपने भावों को मै लेखनी में उतारती रही ।

 इस संग्रह में लेखन के आरंभिक दौर की रचनाएं है।  उन सारे भाव लेखन संग्रह को साह

Read More... Buy Now

सृजन की साधना

Books by पुरुषोत्तम सोनी 'मतंगं'

सुधी पाठक गण,

आपके समक्ष मै अपना प्रथम स्वतंत्र एकल कविता संग्रह “सृजन की साधना” प्रस्तुत कर रहा हूं।

कविता भावों का वह स्पंदन है जो मानवीय अन्तर्मन के मनोभावों से स्वत

Read More... Buy Now

विरासत

Books by सत्येन्द्र कुमार पाठक

विरासत या धरोहर सांस्कृतिक भावों का आदान - प्रदान करने की महत्वपूर्ण प्रक्रिया है । विरासत के विभिन्न गुणों व लक्षणों के बारे में अभिव्यक्ति , ज्ञान , कौशल तथा आत्मविश्वास का आकल

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ श्रृंखला भाग - एक

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰


मैंने अब यह नई काव्य-शृंखला "मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला ( भाग-०१ ) आरम्भ की है। आवरण पर हर बार कोई न कोई मेरी अपनी छवि ही रहा करेगी। इस से पूर्व मैं लगभग

Read More... Buy Now

मेरी इक्यावन कविताएँ श्रृंखला भाग - दो

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल "निश्छल"

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰


मेरी इक्यावन कविताएँ शृंखला की यह दूसरी कड़ी है। कम कविताओं का संकलन निकालने के लिये मुझे मेरी आँखों की पीड़ा ने बाध्य किया है। कविता लिखना मेरा व्यसन

Read More... Buy Now

त्रिवेणी

Books by अंजू, वीणा, विनय

'त्रिवेणी' मेरी प्रकाशित होने वाली दूसरी संयुक्त काव्य रचना है।मन की बात लिखते हुए सबसे पहले यही विचार आ रहा है कि जो काम जैसे होना होता है, वैसे ही होता है । अभी तो पहला साझा काव्य

Read More... Buy Now

अग्निशिखा

Books by निर्मलाा कर्ण, जीतेन्द्र कर्ण

 अग्निशिखा" स्वर्गीय जीतेंद्र कुमार कर्ण की प्रकाशित तीसरी पुस्तक है। इस कथा के मुख्य पात्र अपने समय के महा-प्रतापी चक्रवर्ती सम्राट राजा पुरूरवा और  स्वर्ग-लोक की सर्वश्र

Read More... Buy Now

अनुभूतियाँ

Books by समीर उपाध्याय "ललित"

प्रस्तुत काव्य-संग्रह 'अनुभूतियाँ' में मैंने अनुभूतियों को ही महत्व दिया है। संसार में रहकर सुख और दुख, आनंद और शोक, जय और पराजय, स्वीकार और अस्वीकार, प्रेम और घृणा, स्वार्थ और निस

Read More... Buy Now

हम रहेंगे जीवित हवाओं में

Books by वीरेन्द्र प्रधान

मैं अग्रजसम भाई वीरेन्द्र प्रधान जी को उनके इस कविता संग्रह के प्रकाशन पर हार्दिक बधाई देती हूं तथा मुझे विश्वास है कि उनकी कविताएं पाठकों को रुचिकर लगेंगी एवं आंदोलित करेंगी।&

Read More... Buy Now

काव्य के रंग

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

यह मेरा ४२वाँ एकल काव्य-संकलन है जो माँ शारदा की अनुकम्पा के बिना सम्भव हो ही नहीं सकता। इसके अतिरिक्त १६ संयुक्त काव्य-संकलन, ०४ युगल काव्य-संकलन भी प्रकाशित हो चुके हैं, ०१ संयु

Read More... Buy Now

काव्य-तन्त्र

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

यह मेरा ४२वाँ एकल काव्य-संकलन है जो माँ शारदा की अनुकम्पा के बिना सम्भव हो ही नहीं सकता। इसके अतिरिक्त १६ संयुक्त काव्य-संकलन, ०४ युगल काव्य-संकलन भी प्रकाशित हो चुके हैं, ०१ संयु

Read More... Buy Now

हौसले की उँची उड़ान 'पेपरबैक'

Books by अशोक पटेल 'आशु'

कविता संग्रह "हौसले की ऊँची उड़ान" मेरी पहिली कविता संग्रह है। जो मेरे मन मे एक कुलबुलाहट,एक जिजीविषा, एक अकुलाहट थी, वह इस कविता संग्रह "हौसले की ऊँची  उड़ान" के माध्यम से बाहर आई है

Read More... Buy Now

खुश्बूदार मुक्तक

Books by बृंंदावन राय 'सरल'

हिंदी साहित्य में मुक्तक भी प्रभाव शाली विधा है। मुक्तक का अर्थ ,,,अपने आप में पूर्ण होना है। इसमें एक छंद का दूसरे छंद से  संबंध  नहीं  होता। इसमें चार पंक्तियां जिसमें पहली,

Read More... Buy Now

आषाढ़ के बाादल

Books by डॉ. गुलाब चंद पटेल

राष्ट्र भाषा हिंदी से हमे बहुत लगाव है, हम हिन्दी गुजराती कवि लेखक अनुवादक है, कोरोंना समय में हमने गांधीनगर साहित्य सेवा संस्थान चेरी टेबल ट्रस्ट का गठन किया और वॉट्स अप ग्रुप म

Read More... Buy Now

बांसुरी की जिंदादिली

Books by मीना गर्ग

मेरे लिए बड़े हर्ष का विषय है कि "बांसुरी की जिंदादिली" मेरा द्वितीय काव्य संग्रह प्रकाशित होने जा रहा है जिसमें मैंने साधारण भाषा में अपनी कविताओं का सृजन किया है ताकि पाठक आसान

Read More... Buy Now

पथ

Books by विजय कुमार 'विजय'

मैं इस धरती पर हूं

यह आपका आशीर्वाद है.....

आपके श्री चरणों में यह संग्रह समर्पित कर रहा हूं।

आपका आशीर्वाद सदा मुझ पर बना रहे।

 आपको कोटि-कोटि नमन

Read More... Buy Now

आईना जिन्दगी का

Books by अंजू कालरा दासन

सबसे कठिन काम होता है अपनी कृति के लिये अपने हृदय के उद्गार लिखना। एक उलझन सी आ खड़ी होती है कि कहाँ से आरम्भ करूँ?

सौभाग्य और संयोग से आज गुरु पूर्णिमा का दिन है , प्रभु कृपा से मौ

Read More... Buy Now

साँझ और सवेरा

Books by अंजू कालरा दासन "नलिनी", डॉ. विनय कुमार सिंघल

इस काव्य-संकलन को मैंने युगल काव्य-संकलन कहना उचित समझा क्योंकि इसमें दो ही कवि सम्मिलित हैं— एक कवयित्री अंजू कालरा दासन "नलिनी" व दूसरा अधिवक्ता/कवि डॉ.विनय कुमार सिंघल अर्था

Read More... Buy Now

सफ़़र जिंदगी के

Books by पूनम सिंह

ओ वीणावादिनी मां,

ओ पुस्तक धारणी मां

ओ कमल निवासिनी मां,

पुस्तक धारिणी मां,

हर सरगम संगीत की जननी,

हर धून की ध्वनि की जननी,

हर कला में तू ही बसती,

ममतामई निर्मल न

Read More... Buy Now

काव्य-भागीरथी

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

मैं नहीं जानता मैं कितने एकल व अन्प काव्य-संकलन प्रकाशित करवा सकूँगा क्योंकि मेरा स्वास्थ्य निरंतर गिर रहा है। न तो मुझे ज्ञात है कि किसने कितने काव्य-संकलन प्रकाशित करवाये हैं

Read More... Buy Now

काव्य-कौतुक

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

यह मेरा ३६वाँ एकल काव्य-संकलन है। माँ शारदा की असीम अनुकम्पा से ही यह सम्भव हो पा रहा है। अपने एकल काव्य-संकलन प्रकाशित करने का सुविचार जनवरी, २०१७ में मेरी धर्म-पत्नी श्रीमति आश

Read More... Buy Now

बिखरे मन के फूल

Books by उमाकांत त्रिपाठी

-- प्रस्तावना --
प्रिय पाठकों
               सादर अभिवादन!
प्रस्तुत पुस्तक "बिखरे मन के फूल" को आप सबके समक्ष प्रस्तुत करते हुए मन बहुत ही हर्षित हो रहा है।
        सम

Read More... Buy Now

मेरी बुंआ बंटी बुआ

Books by विनोद ढींगरा 'राजन'

समय निकल जाता है लेकिन कुछ वाक्यां ज़िन्दगी के उन अनमोल लम्हों के ज़हन में हमेशा रहते हैं हम ओर आप उस बीते हुए समय को एक लम्बी उम्र व्यतीत हो जान के बाद याद करते हैं जब यांदे धूमिल

Read More... Buy Now

कुछ अपनी कुछ जग की

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

अनेक काव्य-संकलन प्रकाशित होने के पश्चात् यह काव्य-संकलन एक विस्मय भरी चुनौती के रूप में निकाला जा रहा है। बड़ी आनन्द दायक अनुभूति हो रही है। संकलन का आरम्भ वन्दना अथवा प्रार्थन

Read More... Buy Now

चााँद चुरा के लाया हूं

Books by कुमार विकल

प्रस्तुत उपन्यास में भी जहां एक ओर गांव की भोली भाली मासूम मूरतों की तस्वीर झलकती है, वहीं मुंबई की फिल्मी दुनिया की काली सच्चाई, नवांगतुको का संघर्ष और उनकी उपलब्धियों का आख्या

Read More... Buy Now

कुछ मेरा कुछ तुम्हारा..

Books by प्रकाश कुमार 'जोकर'

मन को खींच लिये जा रहा है ,

ये कैसा नयन हैं 

पत्तियों  को साथ ले जाती हैं, मानो वैसा पवन हैं 

अटूट - सा बंधन बन रहा हैं , नैनों के मिलन से 

ये शोर - शराबा कैसा मानो , जग जश

Read More... Buy Now

शंखनाद

Books by राधिका सोलंकी 'ताशु'

माँ मेरी ये पहली पुस्तक मैं आपको समर्पित करना चाहती हूँ। आपके ही संस्कारों से आज मैंने अपने जीवन मे हर शिखर को पाया है। अपना प्यार और स्नेह मुझपर हमेशा बनाये रखना। मैं आप में अपन

Read More... Buy Now

मिसेज वाॅट्सन

Books by कामिनी श्रीवास्तव

'मिसेज वॉट्सन' मेरी पहली लघु कथा संग्रह हैं। इसके पहले मेरी एक संयुक्त काव्य संकलन "दो कवियों की काव्य पंखुड़ियाँ" और एकल काव्य संकलन "यशोधरा" प्रकाशित हो चुकी है।

बचपन से ही मु

Read More... Buy Now

मन के मोती

Books by इंदु चिंडालिया

मैंने बड़ों से सुना है और कई जगह पढ़ा भी है कहते हैं कि साहित्य दर्पण समान होता है, जो समाज व व्यक्ति को सही रास्ता दिखाता है। सत्य के दर्शन कराता है, साहित्य में भी काव्य जो बहुत मज

Read More... Buy Now

१०८ शब्द पुष्पोंं की माला

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

हिंदी साहित्य की अनेकानेक विधाओं में हाइकु एक नवीनतम विधा है। हाइकु मूलतः जापानी साहित्य की प्रमुख विधा है। आज़ हाइकु जापानी साहित्य की सीमाओं को लाँघकर विश्व साहित्य की निधि

Read More... Buy Now

यूँ ही बन जाती कविता

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

मैं न कविता लिखना जानता हूँ और न कवि बनना चाहता हूँ। न मैं छंद जानूँ, न तुक, न लय और न प्रास। मैं तो जानूँ सिर्फ़ मन के भावों का करना इज़हार। मैं मन में उठने वाले भावों को कागज़ के पन्

Read More... Buy Now

अनुभवों की गठरी (लघुकथा-संग्रह)

Books by समीर उपाध्याय 'ललित'

अपने व्यावसायिक जीवन की शुरुआत हुई 2000 में और शुरू हो गया जीवन के कड़वे-मीठे अनुभवों का सफ़र। इस सफ़र में गुलाब के फूलों को देखा और काँटों को भी। हर मोड़ पर नएं-नएं अनुभव होते गएं। स

Read More... Buy Now

मिट्टी के रंग में

Books by लव कुमार "लव"

भूमिका 


जब तन मन का जुड़ाव मिट्टी के कणों से होकर अक्षरों में ढलकर किसी कविता या संग्रह का हिस्सा बनता है तो वास्तव में उन रचनाओं को जीने का मन करता है। कवि द्वारा जी ली गई इन

Read More... Buy Now

हौंसलेे की ऊँची उड़ान

Books by अशोक पटेल "आशु"

उनके मन मे चुनौतियों को स्वीकार करने की शक्ति आएगी। सोंच में बदलाव आएगा, सकारात्मकता की ओर उन्मुख हो सकेंगे।
और "हौसले की ऊँची उड़ान" भरने के लिए प्रेरित होंगे। मुझे पूर्ण आशा और

Read More... Buy Now

माँँ जन्नत का फूल

Books by रंजनाा बिनानी "काव्या"

धन्यवाद 

मैं अकिंचन इस पुस्तक को मां शारदे के आशीर्वाद से आपके समक्ष प्रस्तुत कर पा रही हूं, वर्ना मुझ में ऐसी काबिलियत नहीं...। सभी गुरुजनों व  अपनों का प्यार इस में सम्मिलि

Read More... Buy Now

काव्यप्रभा

Books by डॉ. रविन्द्रनाथ माधव पाटील

प्रस्तुत  काव्य  संग्रह  में 62 कविताएं  हैं । जो  सन 2005 से  अबतक लिखी हुई हैं, जो मुक्तच्छ्न्द में लिखी गयी है. जिसमें क्या हैं क्या नहीं यह निर्णय प्रबुद्ध पाठकों के पास सु

Read More... Buy Now

जीवन बगिया के रंग

Books by डॉ. संजू त्रिपाठी "एक सोच"

इसमें कोई भी संदेह नहीं है, कि जीवन गुलाब की तरह सुंदर है और हर पल-जिंदा रहने का उत्सव है, लेकिन इसमें चुनौतियाँ भी हैं जो कांटों की  करती है।

Read More... Buy Now

आख़़िर चाँद चमकता क्यों है

Books by डॉ. ज़ियाउर रहमान जाफ़री

मैंने बाल कविताएं लिखते हुए बच्चों की उम्र, उसकी भाषिक संरचना तथा  उसकी सोच और समझ का पूरा ख्याल रखा है. बाल कविता के रूप में अपना तीसरा संकलन रखते हुए मुझे अत्यधिक खुशी हो रही है

Read More... Buy Now

मेरी कलम

Books by प्यारेलाल साहू 'मौद'

"काव्य-संग्रह" 'मेरी कलम'नाम से प्रकाशित कराने जा रहा हूँ जिसमें विभिन्न विषयों से सम्बंधित लगभग पचहत्तर उद्देश्य-पूर्ण कविताएं संग्रहित हैं। "साहित्य धरा अकादमी"के संचालक आदरण

Read More... Buy Now

पथ-प्रदर्शक

Books by नवाब मंजूर

दो शब्द 

बचपन से ही मुझे पत्र पत्रिकाओं अखबारों में रूचि तथा उनमें कुछ ना कुछ लिखने का शौक रहा है। बीच के कुछ कालखण्ड को छोड़कर यह प्रक्रिया अनवरत जारी है। वर्ष 2019 में घटित एक

Read More... Buy Now

मन के अल्फाज़

Books by हिमांशु चतुर्वेदी

दो शब्द

जब आत्मा प्रेरित करती है और माँ सरस्वती का आशीर्वाद मिलता है तो शब्द मन की भावनाओं को उकेरने लगते हैं, और शब्द प्रवाह एक रचना का रूप ले लेते हैं।

सर्व साधारण जीवन में

Read More... Buy Now

ज़रा मुस्कुरा दो

Books by डॉ. ललित फरक्या "पार्थ "

लेखक परिचय :-

नाम : डाॅ. ललित फरक्या "पार्थ"

जन्म दिनांक : 29जून, 1965
जन्म स्थान : रतलाम (मध्यप्रदेश)
शिक्षा : कला स्नातक, आयुर्वेद रत्न (पंजीकृत चिकित्सक)
विधा : कविता, आलेख, लघुकथ

Read More... Buy Now

निदाद

Books by गायत्री बाजपेई शुक्ला

मन की बात 

नमस्कार मित्रों, अपने चारों ओर जो प्रतिदिन घटित हो रहा है उसे मैंने अनुभव किया और समाज में जागरूकता लाने के उद्देश्य से सभी सामाजिक मुद्दों को, विकृतियों को एक-एक ल

Read More... Buy Now

जीवन राग

Books by भानु प्रकाश रघुवंशी

||तुम्हारा होना||

ये रंग
जो तुम्हारी हंसी से
बिखरे पड़े हैं धरा पर
तुम्हारे प्रेम की ऊष्मा पाकर ही
वाष्पित हुए
और इंद्रधनुष हो गया सतरंगी

तुम्हारी खुशियों से ही
तय

Read More... Buy Now

उदास आखों के सपने

Books by हरगोविन्द पूरी

* मोटर साइकिल एक कविता *

बहुत धीरे ही सही
कुछ लोगों की पहुँच में
बीच की सड़क भी आई
सड़क के किनारे चलने वाले लोग
हो सके रफ़्तार में शामिल .

बहुत धीरे ही सही
लोगों के पास अ

Read More... Buy Now

हम बच्चे

Books by आभा दवे

बच्चे देश का सुनहरा भविष्य हैं। बाल मन बहुत ही कोमल होता है। जैसा भी ढालो उसी रूप में ढल जाता है । मेरी ये सारी कविताएँ बाल मित्रों के लिए लिखी गई हैं। अब तक मैं  बाल रचनाएँ लिखती

Read More... Buy Now

journey

Books by Dr. Bhavesh Chandra Pandey

Journey

A tiny, powerless, ignorant creature
Carrying the baggage of previous sins,
And filthy load of instincts,
Groping in darkness of Maya,
Unguided, unprotected, uncared;
Tied with the unbreakable rope of
Raag, dvesa, and moha,
Moving helplessly
In the vicious cycle of life and death,
Curbing under the pressure
Of akushala karma and samskara,
Yearning for bliss, enlightenment and liberation,
Yearning

Read More... Buy Now

वफ़ा की बारिशें

Books by अनुराधा सिंह

दो शब्द..

मैं "अनु" कोई कवित्री और लेखिका नहीं हूं बस बारह साल की उम्र से ही शब्दों को जोड़-तोड़ कर कुछ-कुछ लिखने का प्रयास करती आ रही

हूं और यह जो पुस्तक आप पाठकों के हाथों में

Read More... Buy Now

प्रश्न व्यूह

Books by महेश कटारे "सुगम"

प्रश्न व्यूह 
(लंबी कविता) 

महेश कटारे "सुगम"

अब दुखी द्रोपदी बैठी थी 
अपमान भाव से भरी हुई 
थी केश राशि उलझी उलझी 
कुछ सकुचाई कुछ डरी हुई

 मन शांत भला कैसे ह

Read More... Buy Now

और कितने वातायन

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

प्रारब्ध
॰॰॰॰॰

जैसे भगवान विष्णु के
सहस्त्रनाम हैं
वैसे ही मैंने प्रारब्ध के सहस्त्र रूप
और सहस्त्र रंग देखे हैं,
प्रारब्ध मेरे जीवन में
कभी अभद्र भाषा के रूप में, क

Read More... Buy Now

माटी के दीप

Books by सुधीर देशपांंडे

दो शब्द

जीवन की आपधापी में समय कहाँ है किसी के पास। ऐसे में तीव्र उत्कंठा और तात्कालिक सुलझाव मनुष्य की अपेक्षा बन गये हैं। परिणामतः साहित्य ने अपने स्वरूप में परिवर्तन करना

Read More... Buy Now

ख्यालों के साये में

Books by हीरा सिंह कौशल

प्राक्कथन

साहित्य स्वांत सुखाय के साथ साथ लोक हिताय के लिए हो तो उसको सफल साहित्य माना जाता है। साहित्य की बहुत सी विधाओं में लिखा जाता है जैसे कथा-कहानी, कविता, गजल, नाटक उपन्

Read More... Buy Now

तू मुझे महसूस कर

Books by अभिषेक मिश्रा

दो शब्द

हम सभी बचपन से सुनते आ रहे हैं कि किताबें हमें जिंदगी का रास्ता दिखाती हैं, ये सच्चाई भी है मैंने अपनी साहित्य यात्रा भी साहित्य के सबसे बड़े पुरोधा मुंशी प्रेम चंद जी

Read More... Buy Now

शापित

Books by डॉ. भवेश चन्द्र पाण्डेय

दो शब्द...

मैं कवि नहीं हूँ। कविता जीना मेरे बस में नहीं।
गाहे  बेगाहे शब्दों को जोड़ लेता हूँ।
मुझे पता है आज कविता पढ़ने वाले उतने लोग नहीं हैं जितने लिखने वाले। ऐसे में कवि

Read More... Buy Now

प्रतिबिंंब

Books by स्मृति श्रीवास्तव

"प्रतिबिंब" एक बहुआयामी  कृतियों का काव्य संग्रह है। इसमें कवयित्री ने जहां एक ओर स्नेह,सद्भावना और खट्टी मीठी स्मृतियों को छंदों में पिरोकर प्रस्तुत किया है वहीं दूसरी ओर उनक

Read More... Buy Now

सफरनामा

Books by समीर उपाध्याय "ललित"

दो शब्द:

जीवन एक अनोखा सफ़र है। इस सफ़र में होने वाले कड़वे-मीठे अनुभवों को लघुकथा के रूप में व्यक्त करने का एक छोटा-सा प्रयत्न किया है। आशा करता हूं कि मेरी हर एक कथा का सार किस

Read More... Buy Now

अनुभवों की गठरी

Books by समिर उपाध्याय 'लितत'

दो शब्द:

             अपने व्यावसायिक जीवन की शुरुआत हुई 2000 में और शुरू हो गया जीवन के कड़वे-मीठे अनुभवों का सफ़र। इस सफ़र में प्रकाश पुंज को देखा और गुमनामी के अंधेरे को भ

Read More... Buy Now

काव्य-नवरत

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰

यह मेरा ३४वाँ एकल काव्य-संकलन है। लेखन गति बहुत धीमी है। आँखें साथ नहीं दे रहीं। फिर भी अपने स्वभावानुसार काव्य-सृजन कर ही रहा हूँ।
आगामी काव्य-संकलन

Read More... Buy Now

मैं नारी हूं

Books by विनोद ढींगरा राजन

काव्य व रचना शायद मै कभी ना लिखता मै सन् 1975 से उपन्यास लिखता रहा कई पत्र पत्रिकाओं में अक्सर लेख लघुकथाऐ धारावाहिक कहानी ही लिखता रहा लाक डाउन के समय अपने एक मित्र के कहने पर चार प

Read More... Buy Now

काव्य-विस्तार

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰

यह मेरा ३८वाँ एकल काव्य-संकलन है, ३४वाँ "काव्य-नवरत" प्रकाशनाधीन है, ३५वाँ "अंतर्जगत की काव्य-यात्रा" प्रकाशनाधीन है, ३६वाँ व ३७वाँ भूमिका लेखन के लिये गय

Read More... Buy Now

उड़ता मन

Books by बी. कुमार

कवि परिचय

उड़ता मन काव्य संग्रह के लेखक कवि बिशेश्वर कुमार जो 
बी कुमार के नाम से साहित्य जगत में जाने जाते हैं का जन्म भूमि छपरा बिहार जो राष्ट्र कवि आदरणीय रामधारी सिंह द

Read More... Buy Now

मधुमास वसंत

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

हौसले की उड़ान

Books by अशोक पटेल 'आशु'

कविता संग्रह "हौसले की उड़ान" मेरी पहिली कविता संग्रह है। जो मेरे मन मे एक कुलबुलाहट,एक जिजीविषा, एक अकुलाहट थी वह इस कविता संग्रह "होशले की उड़ान" के माध्यम से बाहर आई है। जो आम जनमान

Read More... Buy Now

मुक्तकों मे गीता

Books by अभिषेक द्विवेदी

दो शब्द 

भगवान श्री कृष्ण के मुखों से निकली श्रीमद् भागवत गीता 
को मुक्तकों में लिखने का मात्र एक उदेश्य यह है की यह सरल भाषा में लोगो तक पहुँचे।
तथा इस कृति के माध्यम से

Read More... Buy Now

बिटिया रानी

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

ऐसी छेड़ी तान गुरू

Books by डॉ. रमेश कटारिया पारस

भूमिका 

ऐसी छेड़ी तान गुरु मेरी नज़र में, ऐसी छेड़ी तान गुरु, ये रोचक शीर्षक है डॉ.रमेश कटारिया पारस के ग़ज़ल संग्रह का।
ग्वालियर ही नहीं अपितु भारत के अनेक स्थानों पर देश क

Read More... Buy Now

वसंत की खुशबू

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

वसंत और प्रेम

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

बाउदब

Books by कुमार अविनाश केसर

चंद अल्फाज़ से हर्फ़ लेकर ज़िन्दगी क़यामत की दहलीज़ पर बाअदब खड़ी होती है। उस दिन जब ज़र्रे से आवाज उठती है कि तूने ताउम्र क्या किया? मुझे खुशी होगी कि मैं कहूँ कि मैं ताउम्र इंसान बना

Read More... Buy Now

वसंत के दिन

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

दृश्यों के आईने

Books by मोतीलाल दास

अपनी बात

समय और इस समय से जुड़ी सारी की सारी सच्चाई महज इत्तफाक नहीं है कि हम इसका इंतजार करें और तलाशे इन समय के बीच से अपनी अपनी मंजिल। आज जो हमारे बीच समय फैला है, इस फैलाव में

Read More... Buy Now

देखो वसंत आया

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

वसंत आया

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

ममता का आँचल

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

प्यार के साये

Books by महेश कटारे सुगम

महेश कटारे "सुगम" स्त्री विमर्श के भी रचनाकार हैं. वैदेही विषाद उनकी पहली लंबी कविता है जो स्त्री के अन्याय के विरोध में पूरी ताकत से खड़ी है . प्रश्न व्यूह इसी प्रकार के प्रतिकार

Read More... Buy Now

वसंत के रंग

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

काव्य- प्रवेश

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰

नियति का विधान संसार के सब विधानों-संविधानों से ऊपर होता है।
हम योजनाएँ बना तो सकते हैं किन्तु सब योजनाएँ नियति के आधीन होती हैं। मैंने सोचा था इस वर

Read More... Buy Now

बांसरी की जिंदगी

Books by मीना गर्ग

कवयित्री के विचार


मेरे लिए बड़े हर्ष का विषय है कि "बांसुरी की जिंदगी" मेरा पहला काव्य संग्रह प्रकाशित होने जा रहा है जिसमें मैंने साधारण भाषा में अपनी कविताओं का सृजन किया

Read More... Buy Now

एहसासों के ताने-बाने

Books by राजी यादव

दो शब्द..

गत कुछ वर्षों से काव्य यात्रा का आरंभ हुआ । या कह लो कलम पकड़ी। 2020 में जब कोरोना महामारी फैली तब मेरी लेखनी ने कुछ कदम बढ़ाने का सिलसिला आरंभ हुआ। यूं तो मैंने कभी किसी ख

Read More... Buy Now

काव्यातिरेक

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰

अक्ष पीड़ा के कारण मैं उपोद्घात् लिख पाने में असमर्थ हूँ।
आपका स्नेहाकांक्षी

(हस्ताक्षर)
डॉ.विनय कुमार सिंघल
"श्रीकृष्ण-पद-रज-अनुगामी"
०१-०३-२

Read More... Buy Now

काव्य-अवन्तिका

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰

इस से पूर्व मेरे २७ एकल काव्य-संकलन प्रकाशित हो चुके हैं।
यह मेरा २८वाँ एकल काव्य-संकलन है। अद्यतन मेरे १५ संयुक्त काव्स-संकलन भी प्रकाशित हो चुके है

Read More... Buy Now

खुलती गिरहें

Books by अंजू कालरा दासन "ज्योतसना"

हृदय के उद्गार

मन-प्रवाहिनी में कब विचार, लहरों का रूप ले लेते हैं, इसका कोई नियत समय नहीं, पर यह तय है कि लेखनी में साक्षात् सरस्वती माँ की कृपा हो तभी यह सम्भव हो पाता है।
प्रत

Read More... Buy Now

दुलारी बिटिया

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

प्यारी माँ

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

प्यारी बिटिया

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

एक यात्रा है कविता

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

निगहबानी

Books by कैलाश मनहर

कैलाश मनहर कोई नए कवि नहीं हैं उन्हें कवितायेँ लिखते हुए  चार दशक से कम  नहीं हुए होंगे  | आज भी वे राजस्थान के जयपुर जिले के एक कस्बे मनोहरपुर में रहते हैं | वे पेशे से स्कूल मे

Read More... Buy Now

अपने नाप की दुनिया

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य के आकाश में लघुकथा बरसों से लिखी जा रही और पसंद की जा रही है। क्षण भर में घटित हो जाने वाली घटना बहुत प्रभाव डालती है। जैसे अचानक कोई पिन चुभो दे या कुछ शब्द कह दे ...तो कई बार

Read More... Buy Now

ग़ैरत

Books by हितेश रंजन दे

लघुकथा ही वस्तुतः वह विधा है जो विस्तार नहीं चाहती और स्फीति के पूरी तरह से ख़िलाफ़ है, जहाँ लेखक रतजगा करके आँखें लाल नहीं करता, जहाँ पाठक यह शिकायत नहीं कर पाता कि उसका समय नष्ट हु

Read More... Buy Now

तितली

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

तितली रानी

Books by हितेश रंजन दे

साहित्य धरा अकादमी :
एक परिचय -

साहित्य धरा अकादमी लेखकों एवं पाठकों का एक लोकप्रिय साहित्यिक संस्थान है। हमारे लिए हर्ष का विषय है कि इस संस्थान से देश-विदेश के चर्चित युवा

Read More... Buy Now

काव्योदय

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 
॰॰॰॰॰॰॰॰

गत वर्ष मेरी काव्य-यात्रा के कीर्तिमानों का वर्ष रहा। यदि मेरी व्याधियों ने कोई बाधा उपस्थित नहीं की तो मेरी काव्य-यात्रा गतिमान रहेगी ऐसा मेरा विश्व

Read More... Buy Now

अनहद-नाद

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 

मेरा यह काव्य-संकलन "अनहद-नाद"
कुल मिला कर २५वाँ एकल काव्य-संकलन है। साहित्य धरा अकादमी द्वारा छापा जा रहा यह मेरा छठा एकल काव्य-संकलन है। इस काव्य-संकलन में मैंन

Read More... Buy Now

कविता का अंतर्नाद

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

अपनी-अपनी श्रेणी में ये सब कीर्तिमान, मेरी जानकारी के अनुसार, अब तक अक्षुण्ण हैं।
उक्त कीर्तिमानों के अतिरिक्त जो एक और दुर्लभ कीर्तिमान भी बना वह यह है कि ईस्वी वर्ष २०२१ में म

Read More... Buy Now

काव्य-मल्लिका

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात् 

माँ शारदा की अनुकम्पा से यह मेरा २४वाँ एकल काव्य-संकलन प्रकाशित हुआ है— "काव्य-मल्लिका" और यह काव्य-संकलन साहित्य धरा अकादमी द्वारा छापा गया पाँचवाँ एकल काव्य-स

Read More... Buy Now

कविता-अव्याहत

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

इस काव्य-संकलन में विशेष बात यह है कि १६-११-२०२१ को मैंने एक दिन में ३३ कविताएँ लिखी थीं और इस संकलन में मैंने १६-११-२०२१ से ३०-११-२०२१ के मध्य लिखी कविताओं को समाहित किया है।
कुल म

Read More... Buy Now

हृदय-वाटिका

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

उपोद्घात्

माँ सरस्वती की कृपा से मेरी काव्य-यात्रा १९६७ से अबाध गति से अग्रसर है। मेरा उत्साहवर्द्धन मेरे मित्रों से आरम्भ होता हुआ मेरे परिवार के  सदस्यों यथा पत्नी आशा स

Read More... Buy Now

शब्द-सेतु

Books by विनय कुमार सिंघल

गगन के वितान से भी विशाल कल्पना-लोक होता है किसी भी कवि का। बस किसी भी कविता की श्रेष्ठता उसकी मौलिकता में छिपी होती है। प्रत्येक कवि की रचना अपने आप में एक विशेष लालित्य लिये होत

Read More... Buy Now

कवितायन

Books by डॉ. विनय कुमार सिंघल

कवि का संक्षिप्त-परिचय
*********************
               
नामः डॉ.विनय कुमार सिंघल
जन्म-तिथि व स्थानः ११ जुलाई, १९४९ (श्रावण का प्रथम सोमवार),
बाजार सीता राम, पुरानी दिल्ली- ११

Read More... Buy Now

सुहानी बरसात

Books by हितेश रंजन दे

बरसात प्रेम की अनुभूति है। प्रेम की यह अनुभूति आदमी के दुःख को कम करती है। तभी वर्षाऋतु कविता के घर में उत्सव की तरह दिखाई देती रही है। यानी कविता आदमी के जीवन में उत्सव का विकल्प

Read More... Buy Now

यशोधरा

Books by कामिनी श्रीवास्तव

भूमिका

अनेक सम्भावनाओं से लक-दक यह कविता-संग्रह, एक नितान्त अज्ञात कवयित्री सुश्री कामिनी श्रीवास्तव के कवि-मन की अन्तर्भू से निसृत हुआ है और बहुत ही सक्षमभाव से उनकी पहचान क

Read More... Buy Now

बारिश की भाषा

Books by हितेश रंजन दे

बारिश की भाषा 

प्रकृति की अनुपम देन बारिश जैसे समय, काल, युगधर्म से अलग अपनी ही रौ में होती आई है बिलकुल वैसे ही प्रेम मानव-मन में बसा होता आया है, जिसे ऊँच-नीच, जाति-धर्म-संप्रद

Read More... Buy Now

बूँद-बूँद का प्यार

Books by रवि रंजन

दो शब्द
प्रस्तुत पुस्तक "बूंद-बूंद का प्यार" एक साझा काव्य संग्रह जिसमें आज के कई आधुनिक नए-नए कवियों एवं कवियत्रीयों की रचनाओं को पढ़कर आनंद महसूस कर पाएंगे मैं कोई संपादक भी न

Read More... Buy Now

कोरोना काल का सफ़र

Books by हितेश रंजन दे

पुस्तक के बारे में 

प्रस्तुत पुस्तक "कोरोना काल का सफर" एक प्रेरणादायक कविताओं की संग्रह है, जिसमें मैने कुल ५१ कविताओं को शामिल किया है। कोरोना के गंभीर समस्या को देखते हुए

Read More... Buy Now

Edit Your Profile

Maximum file size: 5 MB.
Supported File format: .jpg, .jpeg, .png.
https://notionpress.com/author/