Join India's Largest Community of Writers & Readers

Share this product with friends

Saakshaatkaar / साक्षात्कार Zindagi Se / ज़िन्दगी से

Author Name: Sandesh Arya | Format: Paperback | Genre : Literature & Fiction | Other Details

ज़िन्दगी...क्या है ये ज़िन्दगी? संघर्ष, संवेदना, दर्शन और सुख-दुख का संगम। हर दिन एक नया अनुभव, कोई खट्टा तो कोई मीठा, कोई रंगीन तो कोई फ़ीका। इन अनुभवों के माध्यम से होता ही रहता है हम सभी का "साक्षात्कार.... ज़िन्दगी से"।

Read More...
Paperback
Paperback 149

Inclusive of all taxes

Delivery by: 18th Mar - 22nd Mar

Also Available On

सन्देश आर्य

संदेश आर्य

लेखन को संदेश आर्य जी का शौक कहना कितना उचित होगा ये तो पता नहीं लेकिन जब भी यह किसी सामाजिक कुरीति या समाज में हो रही किसी अप्रिय घटना को देखती हैं तो लिखने के लिए विवश हो जाती हैं। जीवन की सभी परिस्थितियों, विवशताओं और अनुभवों को इनकी लेखनी, शब्दों में संजो के एक सुंदर कहानी का रूप दे ही देती है। 

अंग्रेजी और अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर होने के बावजूद हिंदी के प्रति इनका एक अलग लगाव है। इनके पति भी एक प्रख्यात साहित्यकार थे जिनके सानिध्य और प्रोत्साहन से इन्होंने अपने लेखन को बहुत निखारा है। संदेश आर्य जी कभी गीत, कभी कहानियाँ लिखकर हिंदी साहित्य में अपना योगदान देती रही हैं। संगीत में भी इनकी विशेष रुचि है और इन्होंने शास्त्रीय संगीत में डिप्लोमा भी किया है। 32वर्ष के अध्यापन के उपरांत ये वरिष्ठ प्रवक्ता पद से सेवानिवृत्त हुई हैं। इनका मानना है कि जब भी आपको लगे कि कुछ करना है तो बस आप अपनी मेहनत और लगन से अपने लक्ष्य को पाने में लग जाइये, किसी भी कार्य को करने की कोई सही आयु नहीं होती।

Read More...