Share this product with friends

Dil Parinda / दिल-परिंदा

Author Name: Shikha Sharma ‘Radhika’, Rajendra Dixit | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

आपने अक्सर महसूस किया होगा कि कभी कभी आपका दिल ऊँची उड़ान भरना चाहता है, एक परिंदे की तरह आकाश की नयी ऊँचाइयों को छूना चाहता है |परिंदों की बस्ती में हर परिन्दा अपनी अलग रंगत लिए हुए होता है |हमारा दिल भी इन्हीं परिंदों की तरह अपने अंदर अलग-अलग भावनाओं को समेटे रहता है दिल की इन्हीं सब भावनाओं को शब्दों में पिरोकर कविताओं का रूप दिया है | ये कविताएँ आपको अपनी-सी लगें और पको अपने दिल-परिन्दे से मिलाएँ...यही हमारी उम्मीद और यही हमारा प्रयास है....

Read More...

Sorry we are currently not available in your region. Alternatively you can purchase from our partners

Also Available On

Sorry we are currently not available in your region. Alternatively you can purchase from our partners

Also Available On

शिखा शर्मा ‘राधिका’, राजेन्द्र दीक्षित

शिखा शर्मा (M.Sc., M.Ed.)

अपनी क़लम को भावनाओं में डुबाकर कागज़ पर उतार देना इनकी ख़ासियत है | इन्हें भावनात्मक के साथ साथ सामाजिक विषयों के बारे में भी लिखना पसंद है | इनकी लेखन और कला में रूचि बचपन से रही है | इन्हें गीत और गज़ल लिखने का विशेष शौक है |

राजेन्द्र दीक्षित (M.Sc.)

अनुभवों और भावनाओं को सरल शब्दों में कविताओं के रूप में लिख देना इनकी विशेषता है | इन्हें कविताओं के साथ साथ लेख और कहानियाँ लिखने में भी बेहद रूचि है | इनके विज्ञान विषय में कई शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं | इनका एक कविता संग्रह “ब्रेक अप से वेक अप तक पहले भी  प्रकाशित हो चुका है |

Read More...