10 Years of Celebrating Indie Authors

Share this book with your friends

kuchh kahee - anakahee baaten / कुछ कही-अनकही बातें

Author Name: Dhawal Pandey | Format: Paperback | Genre : Poetry | Other Details

“कुछ कही-अनकही बातें” छंदबद्ध या आम बोलचाल में किसी विषयक पर त्वरित टिप्पिणियों से निकली लघु कविताओं का संग्रह है। कई बार कुछ अव्यवस्थित विचार, दो-चार पंक्तियों में सूचीबद्ध होकर गूढ़ सूक्ति में परिवर्तित हो जाते हैं। यह संग्रह ऐसे ही कुछ विचारों का संकलन है। अमूमन डायरी के पिछले पन्नों या लैपटॉप की एक गुमनाम सी फाइल में लिखी हुई ये बातें प्यार, गुस्से, उत्कंठा, वियोग, ख़ुशी या किसी और भवावेश वशीभूत होकर लिखी गयी भूली बिसरी यादें हैं।

Read More...
Paperback
Paperback 149

Inclusive of all taxes

Delivery

Item is available at

Enter pincode for exact delivery dates

Also Available On

धवल पाण्डेय

धवल पाण्डेय करीब पिछले १५ वर्षों से लेखन में सक्रिय हैं। वैसे तो पेशे से साइबर सिक्योरिटी की गूढ़ समस्याओं का निदान खोजते हैं पर ह्रदय से पूर्णतः लेखक ही हैं। कविता के अतिरिक्त कहानियों और नाटक आदि लिखने में भी रुचि रखते हैं। उनके लिए लेखन एक जरिया है अपने मनोभावों को व्यक्त करने का। उनकी लिखी कविताएं और लेख आधा दर्जन से ऊपर काव्य संग्रहों और पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुकी हैं। लेखन के अतिरिक्त किताबें पढ़ने , देशाटन और छायाचित्र खींचने में रूचि रखते हैं। “कुछ कही-अनकही बातें” लेखक की दूसरी एकल
रचना है।

Read More...

Achievements

+3 more
View All